“World Mental Health Day” Program by Brahma Kumaris of Jhalawar

Jhalawar ( Rajasthan ): It was “World Mental Health Day” on 10/10 and the Brahma Kumaris of Jhalawar Centre arranged a public program to awaken and enlighten people about the causes of increasing mental tensions in the present society and its remedial measures.

On this occasion Dr.  Gokul Nagar, Dental Surgeon; Dr. G P Sharma, Tobacco Disease Specialist from CMHO Office; BK Meena and BK Neha were present.

Dr. Gokul Nagar said that in order to be safe from tension, one must minimize his desires, try to remain happy, and daily keep practicing meditation.

Dr. G P Sharma said that by having a balanced diet, doing exercises, and keeping away from any addictions, we can be free from tension.

BK Meena said that today’s youth are falling prey to suicidal tendencies, the main reasons being negative thoughts, frictions in the family, and anger. The way to reduce suicidal cases by solving mental problems is through happiness, leisure, inner peace, social amenities, good habits, and a proper diet, which are possible only by the daily practice of Rajayoga Meditation.

BK Neha said, “To remain free from tensions, we must keep our self-esteem by giving regard to others, have sound sleep, take self-care, live with family, solve problems with others’ help, support children and allow them to study and develop as per their aim.” “This way,” she said, “if we work on these lines, we can have a check on suicides.”

In Hindi:

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के तत्वाधान में विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस पर सभी को जागरूक किया गया की वर्तमान समय तनाव बढ़ने का कारण क्या है और उसका निवारण क्या है ।तो इस अवसर पर डॉक्टर गोकुल नागर दंत रोग विशेषज्ञ सीएमएचओ ऑफिस से डॉक्टर जीपी शर्मा तंबाखू रोग विशेषज्ञ उपस्थित थे । डॉ गोकुल नागर ने कहा कि तनाव से बचने के लिए हमें मेडिटेशन अवश्य करना चाहिए हमें अपनी इच्छाओं को कम करना है और संतुष्ट रहेंगे तो तनाव कम हो सकता है । डॉ जीपी शर्मा ने कहा संतुलित आहार ले व्यायाम करें व्यसन से बचें तो हम तनाव से बच सकते हैं।

ब्रह्माकुमारी मीना दीदी ने कहा तनाव के कारण हमारी युवा पीढ़ी आत्महत्या की शिकार हो रही है। इसका मुख्य कारण है नकारात्मक विचार परिवार में टकराव, गुस्सा । निवारण है खुशी आराम आंतरिक शांति का अनुभव करें । रिश्तो में सामाजिक सुविधा कर रखें राजयोग मेडिटेशन का दैनिक अभ्यास करें । संतुलित आहार और अच्छी आदतें डालें तो हम आत्महत्या पर मेंटल प्रॉब्लम को सॉल्व कर सकते हैं। ब्रह्माकुमारी नेहा बहन ने कहा कि तनाव से बचने के लिए अपने आप को सम्मान दें और दूसरों को भी सम्मान दें, पर्याप्त नींद लें। अपना ख्याल खुद रखें परिवार के साथ रहे अपनी प्रॉब्लम को सॉल्व करें दूसरों के साथ मिलकर और बच्चे आपके जिस क्षेत्र में आगे बढ़ना चाहते हैं उनको उसी क्षेत्र में आगे बढ़ने दें और उनको सहयोग दें जब इस तरह से हम कार्य करेंगे तभी हम आत्महत्या पर रोक लगा सकते हैं।