“Values in Healthcare, A Spiritual Approach” (VIHASA)

Bhilainagar (Chhattisgarh): The Brahma Kumaris organised a Training Program on “Values in Healthcare, A Spiritual Approach” (VIHASA), at Pandit Jawaharlal Nehru Hospital and Research Center, in Sector 9 of Bhilainagar.

BK Prachi, Senior Rajayog Teacher, while explaining about VIHASA, said, “The International Chief of the Brahma Kumaris, 103-year-old Revered Janaki Dadiji, when she was in London, saw no Doctor ever having a trace of smile on their face. They were found performing their duty just as a machine. Keeping that in mind the training on VIHASA, “Values in Healthcare, A Spiritual Approach,” was commenced in the year 2005. It was inaugurated by then Honourable Indian President late Mr. APJ Abdul Kalam for the first time at Mount Abu, Head Quarters of the Brahma Kumaris in Rajasthan. Since then people in the Medical Field are greatly benefited.”

In Spiritual parlance she spoke about subtle service tools which are essential for VIHASA training: Playing, Clarification, Meditation, Reflection, Listening, Visualizing, Appreciating and Certifying. She said, “Presently Psychosomatic Diseases and Depression are increasing in the world. Doctors give only medicines but they must use these said tools, too, along with medicines, in life. By that, Physical and Mental diseases will both be cured simultaneously.” She said, “We have Divine Values within ourselves. Through Rajayog Meditation we awaken our inner Powers.”

In this special program, Values in Healthcare are taught not only in theory but are inculcated through various Spiritual activities in life practically. Everyone shared their questions, which were answered very satisfactorily and convincingly.

Senior Nursing staff, students and para-medical staff attended the training program in large numbers and were immensely benefited. It was also decided on the occasion that henceforth this training will be regularly held once each month at the Pandit Jawaharlal Nehru Hospital and Research Centre, in Sector 9, Bhilai Nagar.

In Hindi:

भिलाई नगर, २५ फरवरी 2019 – प्रजापिता ब्रह्माकुमारीज ईश्वरीय विश्वविद्यालय द्वारा भिलाई इस्पात संयंत्र के पं. जवाहरलाल नेहरू हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर ,सेक्टर-9 में वैल्यूज़ इन हैल्थ केयर ए स्प्रिचुल एप्रोच ट्रेनिग प्रोग्राम (वीहासा-VIHASA) का आयोजन किया गया। वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका ब्रह्माकुमारी प्राची बहन ने (वीहासा-VIHASA ) ट्रेनिग प्रोग्राम के बारे में बताते हुए कहा कि संस्था की मुख्य प्रशासिका 103 वर्षीय दादी जानकी जी ने लन्दन में डॉक्टरों को देखा जिनके चेहरे में मुस्कान का नाम निशान नहीं था। सिर्फ मशीन जैसे कार्य कर रहे है। इसी संकल्प के साथ वैल्यूज़ इन हैल्थ केयर ए स्प्रिचुल एप्रोच ट्रेनिग प्रोग्राम का उद्घाटन 2005 में भारत के पूर्व राष्ट्रपति श्री ए पी जे अब्दुल कलाम जी द्वारा संस्था के अंतर्राष्ट्रिय मुख्यालय माउन्ट आबू, राजस्थान में किया गया। जो की वर्तमान में 44 देशों में चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े लोगों को लाभान्वित कर रहा है।
आपने आध्यात्मिकता के अंतर्गत वैल्यूज़ इन हैल्थ केयर ए स्प्रिचुल एप्रोच के सेवन टूल्स प्लेईंग, क्लिीरिफिकेशन, मेडिटेशन, रिफ्लेक्शन, लिसनिंग, विसवुलाईज़ेशन, एपरिशेट, सर्टीफाई के बारे में बताते हुए कहा कि दुनिया में साइकोसोमेटिक बीमारियाँ और डिप्रैशन बढ़ रहा है। डॉक्टर्स सिर्फ दवाई देते है, पर दवाई के साथ इन सातों टूल्स को भी जीवन में प्रयोग में लाये। तो मन की बीमारियों के साथ तन की बीमारियां भी ठीक हो जायेंगी। हमारे अंदर वैल्यूज है पर हम उनका उपयोग नहीं कर पा रहे है। राजयोग मेडिटेशन से उन शक्तियों को हम जगाते है। इस अवसर पर विभिन्न एक्टिविटीज़ के माध्यम से सभी को वैल्यूज़ इन हैल्थ केयर ए स्प्रिचुल एप्रोच को सिर्फ वर्णन तक नहीं अपितु प्रैक्टिकल लाईफ में धारणा कराया गया। सभी ने अपने मन के प्रश्नों को साझा करते हुए समाधान प्राप्त किया। इस अवसर सीनियर नर्सिंग स्टाफ, नर्सिंग स्टूडेंट, पैरा मेडिकल स्टाफ बड़ी संख्या में उपस्थित हो कर कार्यक्रम का लाभ प्राप्त किया। यह वैल्यूज़ इन हैल्थ केयर ए स्प्रिचुल एप्रोच ट्रेनिग प्रोग्राम हर माह के एक दिन पं. जवाहरलाल नेहरू हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर ,सेक्टर-9 में आयोजित होगा।