“Save the Daughter, Empower Her” program by Brahma Kumaris

Ramanpur (Uttar Pradesh): The Brahma Kumaris conducted a program “Beti Bachao, Sashakt banao” at Ambedkar park in Ramanpur. Organising the program on behalf of the women’s wing of the Brahma Kumaris, BK Shanta from Hathras in her inaugural address said that “A daughter looks after parents throughout their life.” Hence an attempt should be made to save our daughters and to empower them. Speaking on the occasion BK Neetu from Madrak said that the Brahma Kumaris is the only global institution where women (sisters) are entrusted the job to head (lead) the institution.
 
Shri Asish Sharma, Chairperson of the Municipal Corporation, joined the program as the chief guest. Before addressing the gathering as the chief guest, shri Sharma paid his tributes to the deceased CRPF personnel who lost their lives in the terrorist attack at Pulwama in Jammu and Kashmir. A two minutes’ silence was observed for the the martyrs. Speaking on the occasion the Chief guest mentioned that the people of this land love peace and harmony.
 
The programme was inaugurated by the chairperson of the Municipal  Corporation who lit the candle, followed by the performances of singer Saurav Jain and dancer Gaurav Singhania who added an ecstatic spiritual vibe to the occasion.
———————————————————————————————————————

हाथरस (आनन्दपुरी कालोनी) 

‘बेटी बचाओ सशक्त बनाओ’ कार्यक्रम का आयोजन पालिकाअध्यक्ष आशीष शर्मा ने की संगठन के कार्यों की सराहना, देश के शहीदों को किया नमन | बेटियों को बचाने के साथ सशक्त बनाने का प्रयास करना चाहिए ……

किसी ने कहा है कि “बेटे तब तक आपके हैं जब तक उन्हें बहू नहीं मिल जाती। लेकिन बेटियाँ तब तक आपकी हैं जब तक आपकी चिता नहीं सज जाती।” इन भावनाओं के साथ अपने उद्बोधन का आरम्भ प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के अलीगढ़ रोड स्थित, आनन्दपुरी कालोनी के सहज राजयोग प्रशिक्षण केन्द्र की राजयोग शिक्षिका बी0के0 शान्ता बहिन ने किया। यह कार्यक्रम रमनपुर के अम्बेदकर पार्क में शुक्रवार को आयोजित किया गया।

इससे पूर्व मडराक से पधारीं बी0के0 नीतू बहिन ने बेटियों के संदर्भ में कहा कि प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय पहला ऐसा संगठन है जिसने बेटियों , माताओं बहिनों का विशाल संगठन तैयार किया जिसकी मुख्य संचालिका बहिनें और बेटियाँ ही होती हैं। जहाँ न केवल उन्हें बचाने, पढ़ाने और संस्कारवान बनाने की प्रेरणा दी जाती है।

मुख्य अतिथि के रूप में पधारे नगरपालिका अध्यक्ष आशीष शर्मा ने अपने उद्बोधन से पूर्व आतंकवादियों द्वारा कश्मीर में शहीद हुए जवानों को भावभीनी श्रृद्धांजली दी। उपस्थित लोगों ने दो मिनट का मौन रखकर शहीदों को नमन किया और उनकी आत्मा की शान्ति की कामना की। नगरपालिका अध्यक्ष आशीष शर्मा ने कहा कि न तो दहशत और न ही दहशतगर्दो और न ही उनके संरक्षकों के लिए इस देश के दिल में कोई स्थान है। यह देश अमन और शान्ति पसन्द लोगों का है। कार्यक्रम का शुभारम्भ ज्योति से ज्योति जगाते चलो गीत के साथ नगरपालिका अध्यक्ष आशीष शर्मा, बी0के0 शान्ता बहिन, बी0के0 उमा बहिन, बी0के0 दुर्गेश बहिन, बी0के0 नीतू बहिन, बी0के0 मोनिका बहिन आदि द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। गायक कलाकार सौरभ जैन द्वारा उपस्थित बहिनों के लिए माँ के भाव जागृत करते हुए “मेरे मन मंदिर में बोलो कब आओगी माँ” गीत प्रस्तुत कर वाहवाही लूटी। गौरव सिंघानियाँ द्वारा भावनृत्य प्रस्तुत किये। कार्यक्रम के आयोजन में सरस्वती देवी तथा उनके परिवार ने अपनी प्रमुख भूमिका निभाई ।