Rally on De-Addiction by Brahma Kumaris

Kadma (Haryana) : Brahma Kumaris and the District Social Welfare Department jointly organised a Rally of De-addiction Campaign. It was inaugurated by Mr Sunil Yadav, Chief Judicial Magistrate and Secretary District Legal Service Authority. Before waving the green flag to rally he said, “Addiction leaves the person hollow from within. He becomes mentally very weak which shows its influence in the society. It has been a matter of serious concern at present. To get rid of this the Human Values and Spirituality is very much needed.” He said that this rally will bring awareness among the people to unite them for social progress. He said that the Spirituality has solutions for all situations and meditation taught by Brahma Kumaris has the power to liberate the society from all addictions. He expressed his gratitude and thanked sisters deeply for their selfless services.
 
BK Urmila, Editor of Gyanamrit published from Mount Abu every month said, “Present generation of youths is getting badly affected by the habits of smoking and drinking liquors. It is to be noted seriously because that is shaking the very foundation of Moral and Culture in society”. Through Power Point presentation she explained the harms caused by these products and said that it develops cruelty in the Mind that leads to total destruction. She said that these items are sweet poisons which though boost for a short time but at the end destroys the physical and mental energies. They enter as a friend, later turn out as our enemy and kill us. No Religion or Society ever permitted these materials in Human Life. We think we are enjoying but in truth we are being consumed by them.
 
Dr. Lekhram from Global Hospital and Research Centre, Mount Abu, highlighted in detail about the physical harms caused by these addictions and said that they give joy that is short lived but give pain to a great extent. Therefore he suggested to practice meditation along with exercises regularly to get rid of their bad habits.
 
BK Vasudha, Jhunjhukalan Centre in-Charge performed Rajayoga meditation with all participants. She said that by regular practice of Rajayoga and Spirituality one can properly utilise his physical and mental energies for the all round progress of the society. She said that Rajayoga meditation is like the non failing arrow of Lord Sri Ram. It renders Mind peaceful and our Thoughts positive. One who mentally gets disturbed will only take to addictions for alluring Peace of Mind.
 
On this occasion Mr.Yashvir Singh Principal of the University said, “The Campaign started by the Brahma Kumaris will bring new awakening towards Addiction in the society. In this connection the students of Janata University enacted a playlet on intoxications to enlighten the people that it is a bad thing to get addicted.
 
Mr. Krishna Kumar, District Social Welfare Officer and Mr. Ashwani Mishra, Secretary of District Red Cross Society gave the details of this Campaign.
 
Personal Secretary to Governor of Haryana, Mr. Vijay Dahia,; District Deputy commissioner, Mr. Ajay Tomar and Mr. D R Sharma, Chief Secretary of Indian Red Cross Society of State were also present to grace the function as Special Guests along with Dr. Sunita, in- Charge of District Patanjali, Kasani, Mahipal Arya, Proffessor Kamalnayan, Mr. Rakesh Sharma, Mr. Niraj Garg, Earlier District Education Officer, Mr. Bhim Singh Bharadwaj, Prof: Pushpendra Singh and hundreds of brothers and sisters of the area.
 
BK Pooja inspired everyone and made them to take an oath that they would leave all their bad habits to live a better life in future.
Entire program was taken care of and directed by Youth Red Cross Counsellor, Professor Hemalata and Teacher Mr. Rajiv Arora while the Youth Red Cross Counsellor, Professor Roshanlal gave the Vote of Thanks to participants.
 
Hindi News
कादमा(हरियाणा):- नशा व्यक्ति को अंदर से खोखला करता है उसकी मानसिक शक्ति कमजोर होती है जिसका समाज पर बुरा प्रभाव पड़ता है यह उद्गार महामहिम राज्यपाल हरियाणा के निजी सचिव भ्राता विजय दहिया ,जिला उपायुक्त भ्राता अजय तोमर ,भारतीय रेडक्रास कि राज्य शाखा महासचिव डीआर शर्मा, जिला समाज कल्याण विभाग के निर्देशन में ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के सहयोग से आयोजित नशा मुक्ति अभियान के शुभारंभ पर चीफ ज्यूडिशल मजिस्ट्रेट एवं सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण भ्राता सुनील यादव ने व्यक्त किए। नशा मुक्ति अभियान को हरी झंडी दिखाते हुए कहा की आज समाज में बढ़ती नशे की लत एक चिंता का विषय है इसको छोड़ने के लिए वास्तव में अध्यात्म व मानवीय मूल्यों की जरूरत है । न्यायाधीश  यादव ने    ब्रह्माकुमारी संस्था का आभार व्यक्त किया की इस क्षेत्र में नशा मुक्ति अभियान का आयोजन कर समाज में एक नई प्रेरणा देने का कार्य करेंगे जिससे हमारा समाज संगठित होकर आगे बढ़ेगा । क्योंकि अध्यात्म से ही सभी समस्याओं का समाधान हो सकता है और ब्रह्मा कुमारीज में सिखाया जाने वाला मेडिटेशन से हम हर प्रकार के नशे से से छुटकारा पा सकते हैं उन्होंने ब्रह्माकुमारी बहनों दिल से आभार व्यक्त किया।      इस अवसर पर  माउंट आबू से पधारी  राजयोगिनी ब्रह्माकुमारी उर्मिला  बहन संपादक का ज्ञान अमृत पत्रिका  ने कहा  की बीड़ी सिगरेट शराब आदि नशीले पदार्थ आज युवा पीढ़ी को ज्यादा प्रभावित कर रहे हैं जिससे हमारे समाज की नीव खोखली होती जा रही है जो एक चिंता का विषय है । उन्होंने छात्रों को पावर प्रेजेंटेशन के द्वारा समझाते हुए कहा कि नशे के कारण हमारा मन मादकता और क्रूरता से भर जाता है जो विनाश को जन्म देता है। ब्रह्माकुमारी उर्मिला ने कहा कि सभी नशीले द्रव्य मीठे जहर हैं जो शरीर में अल्पकालिक स्फूर्ति प्रदान करते हैं लेकिन शारीरिक शक्ति को नष्ट कर देते हैं। उन्होंने कहा कि नशा दोस्त बनकर शरीर में प्रवेश करता है और शत्रु बनकर मार डालता है किसी समाज एवं धर्म के द्वारा नशे को मान्यता नहीं दी गई है ।वास्तव में हम नशे को नहीं पीते नशा हमें पी जाता है।
इस मौके पर माउंट आबू के ग्लोबल हॉस्पिटल एवं रिसर्च सेंटर से पधारे डॉक्टर लेख राम ने नशे से होने वाली शारीरिक हानि पर विस्तार से प्रकाश डाला और कहा की नशा कुछ समय हमें शांति देता है लेकिन नुकसान ज्यादा करता है इसलिए हम हर रोज  एक्सरसाइज के साथ मेडिटेशन का भी अभ्यास करें तो इससे से छुटकारा पाया जा सकता है ।इस मौके पर झोझूकलांं-कादमा क्षेत्र की प्रभारी ब्रह्माकुमारी वसुधा बहन ने राजयोग का अभ्यास करवाते हुए  अध्यात्म व राजयोग के अभ्यास से नशा मुक्त जीवन बनाने के लिए कहा कि राजयोग के नियमित अभ्यास से हमारी मानसिक ,शारीरिक शक्ति का सदुपयोग सही दिशा में हो सकता है जिससे समाज का सर्वांगीण विकास संभव है उन्होंने कहा कि मेडिटेशन नशा मुक्ति के लिए रामबाण का काम करता है ।जिससे हमारा मन, शांत व सोच सकारात्मक होती है।क्योंकि अशांत, दुखी मनुष्य ही अल्पकालिक शांति के लिए नशे का प्रयोग करता है। इस अवसर पर महाविद्यालय प्राचार्य डॉक्टर यशवीर सिंह ने आभार व्यक्त करते हुए कहा की इस अभियान से समाज में नई चेतना जागृत होगी कार्यक्रम के दौरान जनता महाविद्यालय की छात्राओं ने नशा एक बुरी बला पर लघु नाटिका  प्रस्तुत की जिला समाज कल्याण अधिकारी कृष्ण कुमार वह जिला रेडक्रास सोसायटी सचिव अश्वनी मिश्रा ने कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी दी। इस अवसर पर ब्रह्माकुमारी पूजा बहन ने सभी को नशा छोड़ने की शपथ दिलाई। कार्यक्रम का संचालन यूथ रेड क्रॉस काउंसलर प्रोफेसर हेमलता तथा अध्यापक राजीव अरोड़ा ने की यूथ रेडक्रास काउंसलर प्रोफेसर रोशन लाल ने सभी का आभार व्यक्त किया ।इस अवसर पर जिला पतंजलि प्रभारी डॉ सुनीता, कासनी ,महिपाल आर्य ,, प्रोफेसर कमल नयन, राकेश शर्मा, नीरज गर्ग, प्रो.पुष्पेंद्र ,पूर्व जिला शिक्षा अधिकारी भीम सिंह भारद्वाज आदि सैकड़ों भाई बहने उपस्थित थे।