Rajgarh MLA Addresses Shiv Jayanti Celebrations

Rajgarh (Madhya Pradesh): The Brahma Kumaris arranged a Shiv Jayanti program in Mangal Bhawan, Rajgarh. They set up models of Dwadash (twelve) Jyotirling which was the main centre of attraction and a Spiritual Pictorial Exhibition for the public.

The program commenced with two minutes silence in memory of the Supreme Soul followed by lighting of inaugural lamps by the Guests on the dais.

MLA Mr. Bapu Singh Tanwar; Khadi Village Industries Vice President Mr. Raghunandan Sharma; District Congress General Secretary, Mr. Rashid Jameel Khan; Anjanilal Dham Temple Trustee Mr. Pratap Singh Sisodia; Central School Principal Mr. Nandkishore Soni; the District Pensions Association President Pandit Dinesh Naagar; BK Madhu; Priests, Trustees and Presidents of temples were present for the inauguration.

BK Namrata, BK Sumitra and BK Seema honoured all the guests by putting a badge on each one, and offering flower bouquets and shawls.

MLA Mr. Bapu Singh Tanwar, while greeting the people with all his best wishes, said, “We all know our own weaknesses, so we only have to shed them off. God is very Bholanath (Innocent), hence we can get everything we need from Him.”

BK Madhu said that we need not offer poisonous forest flowers of Ak, Dhatura etc., to God but we must give away our inner vicious, evil traits to Him. When we thus become clean and pure hearted then only Sri Krishna’s world will commence.

Mr. Raghunandan Sharma said that we must never utter harsh words that may hurt others and our weaknesses must be given away to the Supreme Soul, Shiva. Only then is observing Shivratri of any worth.

Mr. Rashid Jameel Khan said that we cannot become Bholenath (the Innocent Lord) but we shouldn’t pronounce poison-like words that may give pain to another’s heart.

On this occasion children enacted a play-let on Khumbhakarna, in which a Brahma Kumari Sister was trying to awaken him from his slumber. Kumari Muskan, through her dance performance and songs, conveyed the message of God Shiva to the audience.

Lastly God’s Flag was hoisted by the Brahma Kumaris and all the guests. BK Sumitra guided all those present to commit that from this day they will stop thinking ill of others and start creating benevolent feelings for all of mankind.

Mr. Raghunandan Sharma cut the ribbon to open the public exhibition of Dwadash (12) Jyotirling. He offered garlands of flowers to all the Shivlings and paid the ovation by burning camphor.

BK Madhu presented Godly gifts to all the guests, and the public who toured around the exhibition were given Spiritual knowledge on the pictures being displayed.

Kumari Garima through her dance item welcomed the guests and the public. Young artists performed a short drama to show the difference between Shiv and Shankar.

Each guest spoke on the occasion of Maha Shivratri and greeted all with their best wishes. Hundreds of civilians attended the whole program and were greatly benefited.

In Hindi:

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय में 83 त्रिमूर्ति शिव जयंती के अवसर पर मंगल भवन में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें शिव परमात्मा की 12 ज्योतिर्लिंगम झांकी आकर्षण का केंद्र रही। कार्यक्रम का शुभारंभ में परमात्मा शिव के परिचय को स्पष्ट करता हुआ व शिव और शंकर में अंतर को स्पष्ट करता हुआ ड्रामा सभी के मध्य प्रस्तुत किया गया। तत्पश्चात कार्यक्रम का विधिवत शुभारंभ 2 मिनट परमात्मा की याद के साथ किया गया । कार्यक्रम में नवनिर्वाचित विधायक बापू सिंह तंवर, खादी ग्रामोद्योग उपाध्यक्ष रघुनंदन शर्मा जी , जिला कांग्रेस महामंत्री राशिद जमील खान ,अंजनीलाल धाम मंदिर के ट्रस्टी प्रतापसिंह सिसोदिया , केंद्रीय विद्यालय के प्राचार्य नंदकिशोर सोनी,पेंशनर जिला एसोसिएशन के अध्यक्ष पंडित दिनेश नागर, राजयोगिनी ब्रह्मा कुमारी मधु व अंजनीलाल धाम मंदिर , गायत्री मंदिर जालपा माता मंदिर ,बड़े श्री जी का मंदिर ,मानस प्रचार समिति, संकट मोचन मंदिर, शीतल दास मंदिर, मनकामेश्वर मंदिर, मदन मोहन मंदिर घूमघाटी ,श्री बिहारी जी के मंदिर के पुजारी, ट्रस्टी एवं अध्यक्ष ने दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया। ब्रम्हाकुमारी नम्रता ,ब्रह्मा कुमारी सीमा, ब्रह्मा कुमारी सुमित्रा बहन ने अतिथियों का तिलक,पुष्पहार, बैज और अंतवस्त्र के द्वारा स्वागत किया। कुमारी गरिमा ने अतिथियों के सम्मान में स्वागत नृत्य प्रस्तुत किया। इस अवसर पर सभी अतिथियों ने शिवरात्रि पर अपने -अपने विचार रखें व शुभकामनाएं दी । ब्रह्माकुमारी मधु ने कहा कि हमें परमात्मा पर नकली अक ,धतूरा, फूल नहीं चढ़ाना है परन्तु अपने अंदर की बुराइयां विष, विकारों को चढ़ाना है ।उन्होंने कहा कि जब हम अच्छे बनेंगे तभी श्री कृष्ण की दुनिया आएगी। रघुनंदन शर्मा जी ने कहा कि हमें कटु वचन नहीं नहीं बोलने है व स्वयं के अंदर की बुराइयां अर्थात विष को परमात्मा शिव के ऊपर अर्पण करना है तब ही शिवरात्रि मनाना सार्थक होगा। जिला कांग्रेस महामंत्री राशिद जमिल खान कि हम भगवान भोलेनाथ जैसा तो नहीं बन सकते लेकिन हमारे मुख से ऐसा जहर , ऐसा विष ना निकले जो किसी का दिल दुखी हो जाए। विधायक बापू सिंह तंवर ने शुभकामनाएं देते हुए कहा कि बुराइयों को हम ही जानते हैं और हमें उन्हें छोड़ना है, भगवान भोलेनाथ है उनसे हम सब कुछ प्राप्त कर सकते हैं। इसी अवसर पर कुंभकरण का ड्रामा भी दिखाया गया। कु. मुस्कान ने शिव के गीतों पर शिव का संदेश देते हुए नृत्य प्रस्तुति दी। जिसमें ब्रह्माकुमारी बहने अज्ञानता की नींद में कुंभकरण सम सोए मानव को जगा रही थी। शिव ध्वजारोहण कर ब्रह्माकुमारी सुमित्रा बहन ने सभी को शुभचिंतन करने व परचिंतन को छोड़ने की प्रतिज्ञा कराई। उनके हाथों में लहराता हुआ शिव का ध्वज परमात्मा का पैगाम दे रहा था। भोलेनाथ शिव की सभी ने मिलकर आरती की ।ब्रह्माकुमारी मधु ने सभी अतिथियों को ईश्वरीय सौगात भेंट कर सम्मानित किया। खादी ग्रामोद्योग उपाध्यक्ष रघुनंदन शर्मा जी ने रिबन काटकर 12 ज्योतिर्लिंग झांकी का उद्घाटन किया। ज्योतिर्लिंग पर माल्यार्पण व दीप ना कर शिव की आराधना की । झाँकी का अवलोकन करने पधारे हुए भाई बहनों को अध्यात्मिक ज्ञान प्रदर्शनी भी समझाई गई । सैकड़ों की संख्या में नगर के सम्माननीय नागरिकों ने कार्यक्रम में भाग लिया व लाभ लिया।