Online Event On 13th Memorial Day Of Dadi Prakashmani By Rajgarh Brahma Kumaris

Rajgarh ( Madhya Pradesh ): The Brahma Kumaris service center of Rajgarh,  observed the 13th Memorial Day of Dadi Prakashmani,  the Former Administrative Head of Brahma Kumaris,  as Universal Brotherhood Day. The online program was held by BK Madhu, Incharge of Brahma Kumaris in Rajgarh.

In the morning Yoga class, vibrations of world peace and brotherhood were given. Special Bhog ceremony,  Divine Food Offering, was made on this occasion.  A two minute silent homage was paid to Dadi Prakashmani.  BK Lakshmi and BK Bhagyalakshmi, Incharge of Brahma Kumaris in Talen and Sarangpur respectively,  were also present.

Speaking about Dadi Prakashmani,  they said that despite overseeing the huge responsibilities of a large Spiritual organization,  Dadi was always calm and composed.  She kept everyone free but reminded them to remain true to their responsibilities.  She balanced law and love perfectly.  Her guiding principles were to be an instrument of God, Humble and of gentle nature. All the members of the Divine family attended this event online.

 

News in Hindi:

ब्रह्माकुमारी संस्थान की प्रथम मुख्य प्रशासिका दादी प्रकाशमणि जी की तेरहवीं पुण्यतिथि *विश्व बन्धुत्व दिवस* के रूप में मनाई गई।

*संयुक्त राष्ट्र द्वारा शान्तिदूत पुरस्कार से सम्मानित*
राजयोगिनी दादी प्रकाशमणि जी का स्मृति दिवस 25 अगस्त को विश्व *बन्धुत्व दिवस* के रूप में मनाया जाता है ,क्योंकि दादी जी के द्वारा विश्व के लगभग 135 देशों में सभी धर्मों के लोगों को वसुदेव कुटुंबकम का पाठ तथा परमपिता परमात्मा का दिव्य संदेश देने का कार्य संपादित किया गया था वर्तमान में 140 देशों में परमात्म संदेश का कार्य निर्विघ्न रुप से संचालित किया जा रहा है । इस अवसर पर भारत तथा विश्व में ब्रह्माकुमारी संस्थान के सभी सेवाकेन्द्रों पर कार्यक्रम आयोजित कर उन्हें श्रद्घाजंलि अर्पित की गई । इसी तारतम्य में राजगढ़ सेवाकेन्द्र द्वारा ब्रम्हाकुमारी मधु दीदी के सानिध्य में ऑनलाइन कार्यक्रम आयोजित किया गया ।
प्रात: काल से ही विश्व बंधुत्व की भावना को बढ़ावा देने हेतू योग साधना प्रारंभ कर सुबह सत्संग के बाद दादी जी की याद में परमात्मा को भोग स्वीकार कराया गया। तत्पश्चात दो मिनट मौन रखकर दादी जी को श्रद्घाजंलि अर्पित की गई । इस अवसर पर तलेन सेवा केंद्र प्रभारी ब्रह्मा कुमारी लक्ष्मी दिदी तथा सारंगपुर सेवा केंद्र प्रभारी ब्रम्हाकुमारी भाग्यलक्ष्मी दीदी ने दादी के बारे मे बताया कि दादी विश्व के 135 देशों में संचालित सात हजार से भी अधिक सेवाकेंद्रों की हेड होने के बावजूद भी हमेशा निश्चिंत रहती थी। छोटे- बड़े सब को दादी के द्वारा स्वतंत्रता प्रदान की गई थी लेकिन दादी का कहना था कि जो भी कार्य करो मर्यादा के अंदर रहकर करना है अगर किसी के द्वारा किसी नियम मर्यादा का उल्लंघन किया जाता था तो दादी जी उनको बहुत प्यार से समझाते थे और अगली बार गलती नहीं करने की सख्त हिदायत भी देते थे, इस प्रकार दादी लाॅ और लव का बैलेंस रख कर के सब को आगे बढ़ाती थी। दादी के जीवन की प्रमुख धारणाएं थी- अपने को निमित्त समझना, निर्मल वाणी रखना और निर्माण भाव से आगे बढ़ना और बढ़ाना।
इस अवसर पर जिले भर की ब्रह्माकुमारी बहने उपस्थित रही एवं संस्था से जुड़े सदस्यों ने इस कार्यक्रम का ऑनलाइन लाभ लिया व दादी जी को श्रद्धांजलि अर्पित की।