Mind Empowerment Training in Bhilai

Bhilai (Chhattisgarh): “Life is first created in the mind and then it takes a practical and physical form,” said BK Prachi participating at a Mind Empowerment Training workshop here.

The event was inaugurated symbolically with the lighting of candles by KK Singh, BK Asha, BK Geetha, BK Prachi and BK Madhuri.

Chief guest KK Singh said at the inaugural session that we should first shed negative emotions and fill the soul with self-respect and positive thoughts to empower the mind. 

In the second session BK Prachi said negative thinking affects health.

“The world might underestimate our value, but how much value do we give to ourselves,” she asked. 

Raja Yoga meditation elevates our inner worth and creates a positive image of the self, she added.

“Effect of Thoughts on Nature,” an experimental video prepared by Japanese scientist Dr. Imoto, was shown at the session.

BK Nikitha suggested activities which can train the mind in positive thinking.

The participants were encouraged to paint, and take part in other activities during the session, including Raj Yoga meditation.

In Hindi:

भिलाई नगर, २३ फरवरी 2019 – कोई भी स्थिति का निर्माण पहले मन में होता है और फि र प्रेक्टिकल लाईफ में। मन की शक्ति से हमारा जीवन आगे बढ रहा है। उक्त उद्गार प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय सेक्टर-७,सडक-२ स्थित अंतरदिशा के पीस ऑडिटोरियम में भिलाई इस्पात संयंत्र में कार्यरत महिलाओं के लिए आयोजित कार्यशाला माइन्ड इम्पॉवरमेंट ट्रेनिंग प्रोग्राम (मन का सशक्तिकरण) विषय पर सम्बोधित करते हुए वरिष्ट राजयोग शिक्षिका ब्रह्माकुमारी प्राची ने कही। दो सत्रों में आयोजित कार्यक्रम में प्रात: ९ बजे से रजिस्ट्रेश्न के पश्चात् प्रथम सत्र की शुरुआत हुई। सर्वप्रथम मुख्य अतिथि के के सिंग (ईडी पी एंड ए , भिलाई इस्पात संयंत्र) भिलाई सेवाकेन्द्रों की निदेशिका ब्रह्माकुमारी आशा, ब्रह्माकुमारी गीता, ब्रह्माकुमारी प्राची , ब्रह्माकुमारी माधुरी ने दिप प्रज्जवलन कर कार्यक्रम का विधिवत् उद्घाटन किया। कायक्रम में मुख्य अतिथि के के सिंग (ईडी पी एंड ए , भिलाई इस्पात संयंत्र) ने कहा कि इस कार्यशाला में नकारात्मक ऊ र्जा से मक्ति आत्म सम्मान की भावना और हमारे विचारों की शुद्घता आदि विषयों पर विस्तार से चर्चा होगी जिसकी आज वर्तमान में सभी को अवश्यकता है। ब्रह्माकुमारी प्राची ने कार्यक्रम के दुसरे सत्र में कहा कि नकारात्मक विचारों का प्रभाव हमारे व्यक्तित्व और सेहत पर पडता है। चाहे हम इस दुनियाँ की नजर में मैं कुछ भी हुं पर स्वंय के नजरों मेरी पहचान क्या है? जिसे राजयोग के द्वारा स्वंय को देखकर श्रेष्ठ कर्म कर स्वंय में आत्म सम्मान की जाग्रती ला सकते है। भिलाई सेवाकेन्द्रों की निदेशिका ब्रह्माकुमारी आशा बहन ने अपने आशिर्वचन में कहा कि इस कार्यशाला का आप साी लाभ ले और सर्व के प्रति शुभ भावना रखे। कार्यशाला में हमारे विचारों का प्रभाव प्रकृति पर पडता है जिसे कि जापान के वैज्ञानिक डॉ ईमोटो के वाटर एक्सपिरिमेंट के माध्यम से प्रोजेक्टर पर दिखाया गया। कार्यक्रम में सभी को ब्रह्माकुमारी निकिता ने एक्टीविज के माध्यम से मन को हल्का करने की विधि और अपने जीवन को निगेटिवीटी से मुक्त सुंदर पेंटिग की एक्टीविटी से उमंग उत्साह से भर दिया। कार्यक्रम के अंत में अपने जिंदगी में जैसा सोचेंगें वैसा सुंदर जीवन बनेगा थीम पर सभी को राजयोग मेडिटेशन कराया गया। कार्यक्रम का सुंदर मंच संचालन ब्रह्माकुमारी माधुरी ने किया।