Diwali Celebrations by Brahma Kumaris Kadma

Kadma ( Haryana): The Brahma Kumaris of Kadma celebrated the festival of Diwali with a cultural program and spiritual discourse.  Colorful patterns called Rangoli were made and a live tableau of Laxmi Narayan was also displayed.  Song and dance performances kept the audience entertained.

BK Vasudha, Incharge of Brahma Kumaris in Kadma, while speaking on this occasion said that for the making of a Golden Bharat, festivals inculcating values of respect, peace, love and unity should be celebrated.  The customary exchange of sweets during Diwali is symbolic of the sweetness in our relationships.  This Diwali, open the account of good karmas by connecting with the Supreme Soul and close all previous accounts to become free.

BK Jyoti said that lighting of a lamp ignites the feeling of giving love, happiness and respect to all. With this our society will become tied with the thread of unity. BK Rekha and BK Susheela made Rangoli on this occasion.

News in Hindi:

कादमा(हरियाणा): स्वर्णिम भारत का निर्माण करने के लिए शांति का धर्म, प्यार की भाषा, सम्मान की सभ्यता, एकता की संस्कृति के साथ पर्व मनाने चाहिए यह उद्गार प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की कादमा शाखा में दीपावली के पावन पर्व पर आयोजित कार्यक्रम में सेवाकेंद्र प्रभारी ब्रह्माकुमारी वसुधा बहन ने व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि दिवाली पर विशेष एक दूसरे को मिठाई खिलाते हैं जो रिश्तो में मिठास भरने का प्रतीक है वास्तव में हर त्योहार हमारे आपसी रिश्तो को मजबूत बनाते हैं।
ब्रह्माकुमारी बहन ने कहा कि अपने पुराने हिसाब किताब व कार्मिक अकाउंट को आत्म स्मृति का दीप जला परमात्मा से शक्ति ले खत्म कर श्रेष्ठ कर्मों के जमा का खाता खोलने का दृढ़ संकल्प लें मनाएं दिवाली तभी हर घर दिव्य गुणों की खुशबू से महकेगा व दिव्य शक्ति से रोशन होगा।

इस अवसर पर ब्रह्माकुमारी ज्योति बहन ने कहा कि दीया जलाना अर्थात देने की भावना तो हमें प्यार, खुशी, सम्मान सबको देते जाना है जिससे हमारा समाज एकता के सूत्र में बंध स्वर्णिम बनेगा। इस अवसर पर ब्रह्माकुमारी रेखा व सुशीला ने रंगोली सजाई तथा मां लक्ष्मी की झांकी आकर्षण का केंद्र रही तथा राधा कृष्ण की नृत्य पर सभी थिरकने पर मजबूर हो गए।

This slideshow requires JavaScript.

Subscribe Newsletter