“Disaster Management and Cleanliness Campaign” Closing Ceremony at ORC, Delhi

The Closing Ceremony of the “Disaster Management and Cleanliness Campaign” was held at Om Shanti Retreat Centre (ORC) in Delhi, which began in Panipat on October 2nd, 2018.

“The Brahma Kumaris is an unparalleled organisation in the world who teach the Art of Living. On arriving here, every time there is a feeling of infinite peace.” This was stated by the former Minister of Haryana, Honorable Mr. Jagdish Yadav. He inaugurated the Closing Ceremony as a Chief Guest. He further stated, “Simplicity and Purity is seen as natural in the lives of Brahma Kumaris. Every member of this Organization inspires every other person by their superior lifestyle.”

Throughout this Campaign, many seminars and workshops were conducted at various schools, colleges, universities, engineering colleges and industrial units. Everywhere, the importance and the value of Spiritual Power and its need in Disaster Management was explained to the audience by Team members who were well-versed in Science and Spirituality.

Director of Om Shanti Retreat Centre and Senior Rajyogi BK Asha in her greetings note said that the root cause of natural calamities is somewhere in the quality of thoughts in the Human Minds. She stated that our thoughts have a deep relationship with Nature. When the mind became addicted to Vices, the level of Calamities also increased. She therefore said that as much as our minds produce Positive and Pure Thoughts, to that extent Nature also cooperates with us. In order to face the ravages of Nature we need Spiritual Power within us.

BK Mohan Singhal, from Mount Abu Head Quarters, informed that the Scientist and Engineers Wing has conducted 15 Disaster Management Campaigns to date. He said that instead of getting panicky in such states we must think of remedial actions to tackle the situation.

Mr. Avineesh Mathur, Chief Director of Park Plaza, shared his experiences with everyone. BK Bharat, BK Piyush and BK Mahesh also expressed their thoughts. BK Poonam from Chandigarh conducted an experience of deep Rajyoga Meditation for everyone.  Everyone took an oath that they would each take up the responsibility to face any problem in life quite boldly in the future.

In Hindi:

आपदा प्रबन्धन एवं स्वच्छता अभियान का समापन
विश्व में एक अद्वितीय संगठन है ब्रह्माकुमारीज़ संस्था – जगदीश यादव, पूर्वमंत्री हरियाणा
प्राकृतिक आपदाओं से निपटने के लिए आध्यात्मिक शक्ति जरूरी – आशा दीदी
गुरूग्राम : ब्रह्माकुमारीज़ विश्व में एक अद्वितीय संगठन है। यह संस्था जीवन जीने की कला सिखाती है।  हर बार संस्था के परिसर में आकर एक असीम शांति का एहसास होता है। उक्त विचार हरियाणा के पूर्व परिवहन मंत्री जगदीश यादव ने व्यक्त किये। उन्होंने ब्रह्माकुमारीज के भोड़ाकलां स्थित ओम शांति रिट्रीट सेंटर में आपदा प्रबन्धन एवं स्वच्छता अभियान के समापन समारोह में बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। उन्होंने कहा कि ब्रह्माकुमारीज़ संस्था के भाई-बहनों के जीवन से सादगी एवं पवित्रता का अनुभव होता है। उन्होंने कहा कि संस्था का हर सदस्य अपने श्रेष्ठ जीवन से लोगों को प्रेरित करता है। २ से २७ अक्टूबर तक चले अभियान के माध्यम से अनेक विद्यालय, महाविद्यालय, इंजीनियरिंग कालेज एवं इंडस्ट्रीज़ में विभिन्न सेमीनार एवं कार्यशालायें आयोजित की गई। जिनके द्वारा आपदाओं से निपटने के लिए आध्यात्मिक शक्ति के महत्व को समझाया गया। अभियान का प्रारम्भ पानीपत से हुआ। अभियान का आयोजन संस्था के वैज्ञानिक एवं अभियंता प्रभाग के द्वारा हुआ। अभियान के सदस्यों में आध्यात्मिकता एवं विज्ञान के अनुभवी वक्ता शामिल हुए।
ओआरसी की निदेशिका राजयोगिनी आशा दीदी ने अपने आर्शीवचन में कहा कि प्राकृतिक आपदाओं का मूल कारण कहीं न कहीं मानव के मन में उठने वाली भावनात्मक आपदाएं हैं। उन्होंने कहा कि प्रकृति के साथ हमारे मन का बहुत गहरा रिश्ता है। जबसे मानव मन अनेक विकारों से ग्रस्त हुआ है, आपदाओं का स्तर भी बढ़ता गया है। उन्होंने कहा कि हमारा मन जितना सकारात्मक एवं पवित्र विचारों का चिन्तन करता है, उतना ही प्रकृति भी हमें सहयोग करती है। प्राकृतिक आपदाओं से निपटने के लिए हमें आध्यात्मिक शक्तियों की आवश्यकता है।
संस्था के मुख्यालय माउंट आबू से पधारे बी.के. मोहन ने कहा कि ब्रह्माकुमारीज़ के द्वारा अब तक १५ बार आपदा प्रबंधन अभियान निकाले जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि आपदाओं से घबराने की बजाए हमें उनसे निपटने के उपाय खोजने हैं।
कार्यक्रम में पार्क प्लाजा के महानिदेशक अविनीश माथुर ने सभी के साथ अपना अनुभव साझा किया। बी.के. भारत भूषण, बी.के. पियूष एवं बी.के. महेश ने भी अपने विचार रखे।
चण्डीगढ़ से पधारी बी.के.पूनम ने सबको राजयोग का गहन अनुभव कराया। कार्यक्रम में सभी ने आपदाओं से निपटने में अपनी जिम्मेवार भूमिका को निभाने की प्रतिज्ञा भी ली।