Conference on Farmers Empowerment Held by Brahma Kumaris in Panipat

Panipat ( Haryana ): The Gyan Mansarovar retreat center of the Brahma Kumaris in Haryana organized a Conference on Farmers Empowerment. More than 2,000 farmers participated in this conference.

Mr. Suresh Dahiya, Head of the Kisan Union in Haryana, while speaking on this occasion, said that the Brahma Kumaris Organization through its efforts for Sustainable Yogic Farming has really empowered the farmers. Since India is an agriculture-dominated economy, adopting yogic farming will lead to overall development.

BK Sarla, Head of the Rural Wing, said that despite being the food provider for everyone, the farmer today is in a pitiable condition. One of the major reasons for increasing diseases today is our food.

BK Bala Saheb, Chief Speaker of this event from Maharashtra, said that the use of chemical fertilizers and pesticides needs to be replaced with organic manure. We need to run campaigns all over the country to bring awareness to the farmers.

BK Bharat Bhushan, Director, Gyan Sarovar Panipat, and National Coordinator of the Science and Technology Wing of the Brahma Kumaris, spoke about the soil, air and water pollution due to the use of chemicals by the farmers. He said that everyone must plant at least one tree to safeguard the environment.

BK Vijay, Zonal Coordinator of the Rural Wing, welcomed everyone on this occasion. BK Raj guided everyone in practicing Rajyoga Meditation.

Mr. Sandeep Bharadwaj, Social Activist; Ms. Asha Shera, Head of the Panchayat Samiti; and Mr. Hawa Singh, Chairman Market Committee, were also present at this function as special guests.

News in Hindi:

किसान यूनियन, हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष श्री सुरेश दहिया  ने कहा कि ब्रह्माकुमारीज़ के शाश्वत यौगिक खेती  के  किसान सशक्तीकरण की गतिविधियों की सहारना की । भारत एक कृषि प्रधान देश है। शाश्वत यौगिक खेती को अपनाने से हमारे देश में विकास होगा। ब्रह्माकुमारीज़ ज्ञान  मानसरोवर, पानीपत के  दादी चंद्रमणि यूनिवर्सल शांति सभागार वह में किसान सशक्तिकरण पर आयोजित सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। इस सम्मेलन में 2000 से अधिक किसानों ने भाग लिया।
बी.के. सरला, अध्यक्ष, ग्रामीण प्रभाग  ने कहा  की हमारा देश कृषि प्रधान देश हैऔर  किसान  को अन्न दाता कहा जाता लेकिन आज के   किसान की दशा बहुत दयनीय है। वर्तमान बढ़ती हुई शारीरिक बिमारीो का कारण हमारा खाना है।  आज का किसान लोभ वश  अपनी भूमि में कृत्रिम खाद और अनेक प्रकार के कीटनाशक दवाइयों का प्रयोग करता है। अनाज और सब्जिओ का सेवन करने से अनेक प्रकार की बिमारिओ का शिकार हो रहे है।
बी.के. बाला साहिब,  महाराष्ट्र ने मुख्य वक्ता के रूप में समझाया कि हमें  अपने खेत में  जैविक खाद का प्रयोग करना चाहिए  रासायनिक उर्वरक का उपयोग नहीं करना चाहिए ।उन्होंने बताया कि  हमने किसानों को जागरूक करने के लिए अनेक प्रकार के अभियान निकाले।   बी.के. भारत भूषण, निदेशक ज्ञान मानसरोवर, पानीपत एवं नेशनल Coordinator विज्ञानं एवं तकनीकी  प्रभाग  ने प्रदूषण के कारण बताए  कि इन केमिकलो के कारण भूमि प्रदूषण, वायु प्रदूषण तथा जल प्रदूषण अनेक प्रकार के प्रदूषण बढ़ते जा रहे है  अब समय के फुकार है कि हमें  पर्यावरण की सुरक्षा के लिए जागरूक होना चाहिए और वर्ष में एक बार या आपने जन्म दिन पर कम से कम एक वृक्ष अवश्य लगाना चाहिए इस के लिए उन्होंने ढ़ृढ़ संकल्प भी कराया।

बी.के. विजय भाई, जोनल Coordinator , ग्रामीण विंग, उत्तरी क्षेत्र, पंजाब जोन  जींद ने  सभी अतिथियों  का स्वागत किया। बी.के. सुनीता बहन  ने मन की शांति प्राप्त करने के लिए तकनीकों को समझाया।  पानीपत की राजयोगिनी ब्रह्माकुमारी सरला दीदी ने  आशीर्वाद में शुभकामनाएं व्यक्त कीं। कार्यक्रम के अंत में बी.के. राज दीदी शामली ने  का राजयोग का अभ्यास कराया । बी.के. मेहर चंद, जोनल Coordinator, स्पोर्ट्स विंग, करनाल ने सफलतापूर्वक मंच का संचालन किया।
श्री संदीप भारद्वाज प्रख्यात सामाजिक कार्यकर्ता, श्रीमती। आशु शेरा अध्यक्ष पंचायत समिति, पानीपत, और श्री हवा सिंग चेयरमैन मार्केट कमेटी भी सम्मेलन के माननीय अतिथि के रूप पधारें ।कार्यक्रम के  शुरुआत में बी.के. अनिल भाई, चंडीगढ़ और हरियाणवी टीम ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया। सम्मलेन के पश्चात् ज्ञान मानसरोवर, पानीपत के History  हॉल में  एक दिवसीय ट्रेनिंग प्रोग्राम का आयोजन किया गया   जिसमें 100 से अधिक  किसानों ने भाग लिया और शाश्वत  यौगिक  खेती  को अपनाने का दृढ़ संकल्प लिया।