Children’s Personality Development Camp by Brahma Kumaris, Bidar

Bidar ( Karnataka ): Every year the Brahma Kumaris Shiv Shakti Bhavan Bidar center organises a Children’s Personality Development Camp for children of 5th to 10th class. This year is the 8th children’s personality development camp.

The inauguration of the camp was done by a candle lighting program by  BK Sumangala (Incharge, Sangareddy), BK Sunanda (Incharge, Bidar), Dr. Bharat Shetty (Physiotherapist and Scout & Guide Trainer), Dr. Govindraj Bacha (Eye Specialist and Eye surgeon), Mrs. Kirti Lata (Resource Person, Bidar).

Approximately 100 children participated in this program, in which they learned various value-based classes, road safety rules, arts and crafts, Personality development classes, and many games and activities.

During the inauguration ceremony BK Sumangala said that it is very important for a child to develop an all-round personality including their studies.

Even Eye specialist Dr. Govind Raj taught several eye safety exercises and preventive measures for eye protection and also advised using our mobile device for the least amount of time.

News in HIndi:

*ब्रह्माकुमारीज शिव शक्ति भवन बीदर में बच्चों के लिए बाल व्यक्तित्व विकास शिविर का आयोजन*

प्रतिवर्ष प्रमाण ब्रह्मा कुमारीज शिव शक्ति भवन बीदर द्वारा क्लास 5th से 10th के  बच्चों के लिए बाल व्यक्तित्व विकास शिविर लिया जाता है l पिछले 7 साल से इस प्रोजेक्ट का आयोजन करते आ रहे हैं इस वर्ष का यह 8 वाँ बाल व्यक्तित्व विकास शिविर है। इस शिविर के उद्घाटन सत्र में बीके सुमंगला ( Incharge , Sangareddy ), बी के  सुनंदा (Incharge , Bidar ) , डॉ भरत शेट्टी (Physiotherapist & Scout & Guide Trainer ), डॉ. गोविंदराज बच्चा (Eye Specialist & Eye surgeon) , Mrs किर्ती लता मँडम (Resource Person, Bidar) आदि गणमान्य व्यक्तियों के द्वारा दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया गया । करीब 100 बच्चों ने हिस्सा लिया। यह शिविर 1 मई से 4 मई तक होगा, इसमें बच्चों के लिए नैतिक मूल्य शिक्षा, रोड सेफ्टी रूल्स , आर्ट एंड क्राफ्ट,  पर्सनालिटी डेवलपमेंट क्लासेस,  Value based Classes , गेम्स, एक्टिविटीज आदि कराया जाएगा।

बी.के. सुमंगला बहनजी ने उद्घाटन के बाद शुभकामनाएं  देते हुए  कहां बच्चों को पढ़ाई के साथ साथ व्यक्तित्व विकास पर जोर देना जरूरी है । इसके लिए सोशल सर्विसेज में अपना समय देना जरूरी है । इससे दिव्य धन बढ़ता है दिव्य धन एक ऐसी पूंजी है जो जीवन के अंत तक हमें साथ देते हैं ।अच्छे कर्म के रूप में हम अपना दिव्य धन जमा कर सकते हैं , इसलिए रोजाना हमें यह चेक करना है कि आज मैंने कितना दिव्य धन इकट्ठा किया। हर संभव जहां भी हमें सर्विस का मौका मिले उसका फायदा उठा कर दिव्य धन जमा करना चाहिए। इतना ही नहीं दूसरों को भी दिव्य धन जमा करने के लिए प्रेरित करना चाहिए।

डॉ गोविंदराज बच्चा ( आई स्पेशलिस्ट) उन्होंने बच्चों को आंखों की बीमारियां तथा आंखों की सुरक्षा संबंधी  जानकारी दी आंखों की सुरक्षा के लिए मोबाइल  का कम से कम उपयोग करने के लिए कहा। बच्चों ने भी अपने कुछ प्रश्न पूछे उनके प्रश्नों के समाधान कारक उत्तर भी दिए गए l

बि.के. सुनंदा बहन जी ने अपनी शुभकामनाओं  में कहां बच्चों को अपने भाग्य को श्रेष्ठ बनाने के लिए श्रेष्ठ कर्म पर जोर देना आवश्यक है।श्रेष्ठ  कर्म से श्रेष्ठ भाग्य बनता है यह बडे ही रोचक  कहानियों के माध्यम से स्पष्ट  किया।

डॉ.  भरशेट्टी ने बच्चों को गीत और मेमोरी गेम्स के द्वारा  मनोरंजन कराया l बी.के. वर्षा ने सत्र संचलन किया।