Certification Program for Spiritual Counselors in Shantivan

Shantivan, Abu Road (Rajasthan):  A three-day residential Counselor training — the 4th one in the first-ever Spiritual Counselor Certification programme — was conducted at the Brahma Kumaris campus in Shantivan by the Education Wing of the Brahma Kumaris. This was exclusively for the students who had completed a P.G. Diploma and M.Sc in Counseling and Spiritual Health University Course. About 60 members have successfully completed this Certification programme as “Spiritual Counselors.”

This Training is part of the Training Series for Prevention and Management of Non-Communicable Diseases like Diabetes, Cancer, Heart Diseases, Stroke, HyperTension and Neurotic Illnesses like Anxiety, Depression, and phobia using Healthy Life Style, Psychotherapies and Psycho-Spiritual Counseling Approaches.
On the final day, the certificates were issued to all the participants by Rajayogi BK Mruthyunjaya, Chairman, Education Wing, Rajayoga Education and Research Foundation, a sister concern of the Brahma Kumaris. This Training programme was organized by Dr. BK Pandiamani, Dr. BK Loganathan, BK Azeem Dana, and BK Ramakrishna.

News in Hindi :

शांतिवन में आध्यात्मिक सलाहकार सर्टिफिकेशन प्रोग्राम आयोजित 

ब्रह्माकुमारीज की ओर से तीन दिन का रेजिडेंशियल सलाहकार प्रशिक्षण का आयोजन शांतिवन में किया गया। ये पहला आध्यात्मिक सलाहकार सर्टिफिकेशन प्रोग्राम था जिसे ब्रह्माकुमारीज की एजुकेशन विंग ने आयोजित किया। ये दरअसल उन विद्यार्थियों के लिए था जिन्होंने पीजी डिप्लोमा और काउंसिलिंग एंड स्पिरिच्युल हेल्थ युनिवर्सिटी से एमएससी किया है। 60 सदस्य़ों ने सफलतापूर्वक ये तीन दिन का सेशन पूरा किया।

इस ट्रेनिंग में एनसीडी की बीमारियां जैसे डायबिटिज,कैंसर, दिल की बीमारी, स्ट्रोक, हाइपर टेंशन, डिप्रेशन, फोबिया, न्यूरो संबंधित बीमारी, मन की बीमारी, लाइफ स्टाइल से जुड़ी कई तरह की आम बीमारियां इन सबके प्रति हमारी आध्यात्मिक सोच कैसे काम करती है।

आखिरी दिन ट्रेनिंग पूरी करने वाले सभी सदस्यों को राजयोगी भाई म्रुथुंजय, ये एजुकेशन विंग के चेयरमैन भी हैं। इस ट्रेनिंग को आयोजित करने में डॉक्टर बीके पंडियामनी ने भी अपना सहयोग दिया।