Cabinet Minister Mr. Pawar Inaugurates “New Dimensions in Social Service” Seminar

Panipat ( Haryana ): A seminar on exploring new dimensions of social service was held at Dadi Chandramani Universal Peace Auditorium. It was inaugurated by Mr. Krishna Lal Pawar, Cabinet Minister in the Haryana Government. Mr. Pawar shared that he has been very influenced by the manner of social service done by the Brahma Kumaris.  He himself has worked extensively on issues relating to environment conservation, jail inmates reformation, etc.

BK Amir Chand, Incharge of the Social Service wing, said that health, wealth and happiness are always clubbed together. Of these, happiness is the most important, as with it the other two follow automatically. The “Health Wealth and Happiness” campaign of the Brahma Kumaris will travel from Jammu to Mumbai interacting with various social service organizations to give the message of social upliftment through spirituality.

BK Sundari from Delhi while interacting with the audience said that real social service is not possible without spiritual power. BK Sarla from Panipat guided everyone in experiencing Rajayoga meditation. The program included about twenty-five different social service organizations participating enthusiastically. Their heads were felicitated with trophies and Godly blessing cards.

News in Hindi:

समाज सेवा विंग का सेमिनार आयोजित

पानीपत (हरियाणा)। शहर स्थित दादी चंद्रमणि यूनिवर्सल पीस ओडिटोरियम में समाज सेवा के विभिन्न आयामों को लेकर एक सेमिनार का आयोजन किया गया। हरियाणा सरकार के कैबिनेट मंत्री कृष्ण लाल पवार ने इसका उद्घाटन किया। पवार ने कहा कि वे संस्था द्वारा किए जा रहे सामाजिक कार्यों को लेकर बहुत प्रभावित हैं। जबकि वे खुद पर्यावरण संरक्षण, जेल सुधार के कार्यों से जुड़े रहे हैं। इस मौके पर सोशल सर्विस विंग के इंचार्ज बीके अमीर चंद ने कहा कि स्वास्थ्य, धन और खुशी हमेशा साथ में जुड़ी होनी चाहिए। इसमें खुशी सबसे अधिक महत्वपूर्ण है। वह रहेगी, तो शेष सभी मिल जाएंगे। दिल्ली की बीके सुंदरी ने कहा कि आध्यात्मिक शक्ति के बिना समाज सेवा संभव नहीं है। इस दौरान पानीपत की बीके सरला ने उपस्थित लोगों को राजयोग मेडिटेशन कराया। इस सेमिनार में 25 समाज सेवी संगठनों ने हिस्सा लिया। उनके प्रमुखों को ट्रोफी एवं ईश्वरीय सौगात देकर सम्मानित किया गया।