Brahma Kumaris Kadma Celebrate Raksha Bandhan at the Police Station

Jhonjhukalan, Kadma ( Haryana ): BK Vasudha, Centre in Charge of Jhonjhukalan, Kadma, in Haryana, visited the local Police Station on Raksha Bandhan day to tie Rakhi to all the Policemen and the Staff.  Mr. Dalbir Singh, Station House Officer in Charge, was also present on the occasion.

After tying Rakhi, BK Vasudha shared the meaning of Raksha Bandhan. She said, “Imbibing the qualities of Purity, Politeness and Firmness we can make our lives Nobler and thereby create a Value-Based Society.” She said, “Having sweet and righteous Views, Thoughts, Attitudes and Actions, we must observe the Holy Raksha Bandhan Festival. We must treat all as brothers and sisters, without any distinction of Caste, Creed, Religion and Culture. Only then can we fulfill the relationship of Brother and Sister which is very Pure and Sacred and can save each other. Today we need to overpower our evil thoughts, attitudes and actions, then we will be able to save our Home, Family and the Society.

Mr. Dalbir Singh, on this occasion said that Brahma Kumari sisters are striving to bring Positive change in Society, so we too must cooperate with them because now the status of our rural life is getting deteriorated and mutual love, cooperation and the sense of brotherhood are vanishing. If we observe the sacred festival of Raksha Bandhan by respecting and helping each other, then we can eliminate the feelings of envy, hatred and jealousy from the Society and surely there can be a change possible in Human Society.

BK Jyothi, speaking about Raksha Bandhan, said, “It’s vast and subtle relation is based on Purity. If that Purity is in Body, Mind, Thoughts, Speech and Behaviour, then we can to some extent remain safe with the Bond of this Raksha Bandhan.” She said that when, by following the Divine Teachings of Supreme God Father, we maintain Purity in Mind, Speech, Action and Dream, then it is said to be True Raksha Bandhan.

All the Policemen were then given sweets and Godly literature.

News in Hindi:

झोझू कलां-कादमा(हरियाणा): पवित्रता मधुरता और दृढ़ता आदि गुणों के बंधन में बंध जीवन को श्रेष्ठ  बना समाज को मूल्य निष्ठ बनाना ही सच्चा रक्षा बंधन है यह उद्गार प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की झोझूकला – कादमा शाखा द्वारा रक्षाबंधन पर्व पर थाना झोझू कलां में पुलिस कर्मियों को राखी बांध रक्षाबंधन का दिव्य संदेश देते हुए ब्रह्माकुमारी वसुधा बहन ने व्यक्त किए। उन्होंने रक्षाबंधन के पावन पर्व को अपनी दृष्टि, वाणी ,वृत्ति, कर्म को श्रेष्ठ, मधुर बना मनाने के लिए कहा की हर भाई प्रत्येक बहन को अपनी बहन समझे और हर बहन सभी को अपना भाई समझे चाहे वह किसी भी जाति, धर्म, संप्रदाय से संबंधित हो तो हमारा भाई-बहन का संबंध पवित्र रह सकता है और तभी हम एक दूसरे की रक्षा कर सकते हैं। आज आवश्यकता है हमें अपनी आसुरी दृष्टि, वृत्ति, कृति से रक्षा करने की तभी हम अपने घर, परिवार, समाज की रक्षा कर सकते हैं।

इस मौके पर थाना प्रभारी SHO दलबीर सिंह ने कहा कि ब्रह्माकुमारी बहने समाज में सकारात्मक परिवर्तन का कार्य कर रही है तो हमें इस कार्य में सहयोगी बनना चाहिए क्योंकि आज हमारा ग्रामीण स्तर गिरता जा रहा है आपसी स्नेह प्यार सहयोग भ्रातृत्व की भावना समाप्त होती जा रही है। उन्होंने कहा की समाज से ईर्ष्या, द्वेष, घृणा भाव को समाप्त करने के लिए हम एक दूसरे का सम्मान करें ,सहयोग दें इस भावना में बंधकर रक्षाबंधन का पर्व मनाएं तो अवश्य ही समाज में परिवर्तन आ सकता है।
इस अवसर पर ब्रह्माकुमारी ज्योति बहन ने कहा कि रक्षाबंधन का व्यापक और सूक्ष्म संबंध पवित्रता के साथ है पवित्रता तन,मन, संकल्पों की, व्यवहार, वाणी की हो तो हम कुछ हद तक इस बंधन मे बंध सुरक्षित रह सकते हैं। ब्रह्माकुमारी बहन ने कहा की हम परमपिता परमात्मा की दिव्य शिक्षाओं का पालन करते हुए मन, वचन, कर्म और स्वपन में संपूर्ण पवित्रता को अपनाएं तभी सच्चा रक्षाबंधन हो सकता है।  ब्रह्माकुमारी बहनों ने सभी उपस्थित पुलिसकर्मियों को ईश्वरीय साहित्य एवं प्रसाद भेंट की।