Brahma Kumaris Honoured by World Book of Records, UK

Abu Road ( Rajasthan ): Senior Rajayoga Teacher BK Usha, Head Quarters Co-ordinator of Politician Service Wing in Mount Abu, Rajasthan, has been honoured for rendering spiritual service to mankind by the World Book of Records, United Kingdom. She has contributed exceptional services in encouraging people to overcome mental stress, depression, anxiety, addictions, low self-esteem, and various other mental issues.

BK Usha is a senior Rajayoga Meditation teacher and management trainer of the Brahma Kumaris. Dedicating her life fully to the service of mankind in 1980, she has visited thousands of schools, colleges, universities, medical associations, social organizations and corporate sector conferences at the national and international level.

She has done original research on the great Indian epics of the Ramayana and the Mahabharata for their spiritual significance and practical application in lifestyle. She has also written a book on “Self-managing Leadership”. Her expertise includes the unique ability to blend spirituality with modern management philosophy.

In today’s times of conflict, when mental health issues are becoming an epidemic, this award is a recognition of the value of services in this area. It also highlights the unique potential of spirituality in tackling social issues of today.

News in Hindi:

वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स ने बीके उषा का किया सम्मान

अध्यात्म के जरिये मानव सेवा को सराहा

आबू रोड (राजस्थान)। वरिष्ठ राजयोग शिक्षक एवं ब्रह्मा कुमारीज मुख्यालय स्थित पॉलिटिकल विंग की संयोजक बीके उषा को ब्रिटेन के वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स की ओर से सम्मानित किया गया है। बीके उषा को अध्यात्म द्वारा मानव सेवा के उनके कार्यों को लेकर यह सम्मान दिया गया है। बीके उषा ने अनेक लोगों को तनाव, अवसाद, बेचैनी, एडिक्शन एवं अन्य मानसिक रोगों से छुटकारा दिलाने में अनन्य भूमिका निभायी है। वे राजयोग शिक्षक के अलावा मैनेजमेंट ट्रेनर भी हैं, जिन्होंने 1980 में ही अपने जीवन को मानव सेवा के लिए समर्पित कर दिया था। इन्होंने हजारों स्कूलों, कॉलेजों, यूनिवर्सिटीज, मेडिकल एसोसिएशंस, सामाजिक संगठनों व कॉरपोरेट सेक्टर के राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय सम्मेलनों में हिस्सा लिया है। बीके उषा ने रामायण एवं महाभारत के ऊपर गहन शोध भी किया है। इन्होंने सेल्फ मैनेजिंग लीडरशिप पर एक किताब भी लिखी है। आधुनिक प्रबंधन सिद्धांत के साथ आध्यात्मिकता को इन्होंने बखूबी मिश्रित किया है। आज के दौर में जहां मानसिक रोग किसी संक्रामक बीमारी की तरह लोगों को अपनी चपेट में ले रहे हैं, उसे देखते हुए बीके उषा के कार्यों को वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स का यह सम्मान काफी मायने रखता है।