13th Ascension Anniversary Event at Brahma Kumaris Centre in Jalore

Jalore ( Rajasthan ) : Keeping in view the restrictions of the covid – 19 pandemic, the Brahma Kumaris of Jalore held a simple function at the Rajayoga Centre to pay homage to Dadi Prakash Mani on her 13th Ascension Anniversary.

Highlighting in detail about the life of Revered Prakash Mani Dadi, Centre in Charge of Brahma Kumaris in Jalore, Rajayogi BK Ranju said, “As a Leader of one of the world’s largest organizations, she performed the most praiseworthy activities. Under her direction, to spread Brahma Kumaris Spiritual Projects in every corner of the world, 8500 Rajayog Centres were opened in 140 countries. At these centres, millions of families daily acquire the Spiritual Wisdom and are leading a Moral Life. She lent as a Divine Mother lots of Love and Affection to everyone. In acknowledgement of her services for the Welfare of Mankind, she was honoured with the most prestigious Peace Award by the United Nation in Washington, DC. Dadiji’s teachings were based on ‘Nimit, Nirmaan and Nirmal Vani,’ (Be a Trustee, Be Egoless, Be Pure and Sweetly Spoken). By adopting this slogan many people have had their Lifestyle refined.”

The Function was initiated by offering a Floral Homage to Dadiji by BK Krishna, BK Pooja, BK Lakshmi Narayan Agrawal and Retired Executive Engineer Mr. BL Sridhar. They expressed their living views about Dadiji. Thereafter others too offered flowers and garlands to Dadiji with reverence. Present in the function, Mr. Kishore Singh; Dr. Sanjay Choudhary, Engineer; Mr. Bhawani Shankar Goud; Mr. Mohan Prajapat; Mr. Valaram; Mr. Jitendra, Advocate; Mr. Chhaganlal and BK Lalit; Dr. Jasveer; Mothers from Global Hospital: Indira, Asha, Rekha, Pushpa and sisters Santosh, Saiti, Urmila, Nivi, Aarati, Manisha and Nikita also offered flowers to Dadiji in her memory. The Ascension Day of Prakash Mani Dadiji is observed all over the world by the Brahma Kumaris as Universal Brotherhood Day on August 25th every year.

News in Hindi:

दादी प्रकाशमणि के स्मृति दिवस पर श्रद्धांजलि कार्यक्रम जालोर

राजयोग केंद्र प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय जालोर में  संस्था की पूर्व मुख्य प्रशासक आदरणीय दादी प्रकाशमणि जी की तेरहवीं स्मृति दिवस पर राजकीय कोविड-19 की गाइडलाइंस का पालन करते हुए एक सादा कार्यक्रम आयोजित किया गया । राजयोग केंद्र के मुख्य संचालिका आदरणीय बीके रंजू दीदी ने दादी के जीवनी पर विस्तृत प्रकाश डालते हुए कहा कि दादी जी विश्व में सबसे बड़ी संस्था के लीडर के रूप में सराहनीय कार्य किया । दादी जी के नेतृत्व में ब्रह्माकुमारीज के आध्यात्मिक प्रकल्प विश्व के कोने कोने में करीब 180 देशों में राजयोग केंद्र खोल कर पहुंचाया । विश्व में दादी जी के नेतृत्व में करीब 8500 प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के अध्यात्मिक राजयोग केंद्र खोले गए । दादी जी ने नेतृत्व एवं मातृत्व के रूप में अवर्णनीय कार्य किया । संस्थान में समर्पित सभी भाई बहन दादी जी से मां के रूप पालना लेते थे। इन राजयोग सेंटर पर प्रतिदिन लाखों गृहस्ती भाई-बहन आकर राजयोग का ज्ञान प्राप्त करके सात्विक जीवन जी रहे हैं । दादी जी को विश्व संस्था द्वारा अनुकरणीय कार्य जाने पर वाशिंगटन डीसी में शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया । दादी जी के ध्येय वाक्य निमित्त, निर्माण, व निर्मल वाणी की प्रेरणा से देश विदेश में लाखों भाई-बहन आध्यात्मिक ज्ञान प्राप्त कर अपने जीवन शैली में निखार ला रहे हैं ।
श्रद्धांजलि कार्यक्रम को बीके कृष्णा, बीके पूजा, बीके लक्ष्मीनारायण अग्रवाल एवं सेवानिवृत्त अधीक्षण अभियंता बी.एल. सुथार साहेब से अपने शब्दों के उद्बोधन द्वारा श्रद्धा सुमन अर्पित किए । तत्पश्चात कार्यक्रम में पधारे सभी भाई बहनों ने दादी को पुष्प एवं मालाओं से श्रद्धांजलि अर्पित की। कार्यक्रम में किशोर सिंह, डॉक्टर संजय चौधरी, इंजिनियर भवानी शंकर गौड़, मोहन प्रजापत, वालाराम, वकील जितेंद्र, छगन भाई, बीके ललित, डॉक्टर जसवीर, मातृ शक्तियों में ग्लोबल हॉस्पिटल के इंदिरा माता संतोष बहन, रेखा माता, आशा माता, पुष्पा माता, साइती बहन, उर्मिला बहन, कुमारी निवि, मनीषा, आरती, निकिता आदि उपस्थित श्रद्धालुओं ने भी फूलों से दादी जी को श्रद्धांजलि अर्पित की । दादी के निर्वाण दिवस को विश्व भातृत्व दिवस के रूप में पूरे विश्व में मनाया जाता है ।