Inauguration of New Center Building and Silver Jubilee of Brahma Kumaris Bechraji

Bechraji ( Gujarat ): In Bechraji, the Brahma Kumaris of Mehsana organized a confluence of three events at one time, as a Triveni Sangam:  1) the Inauguration of their newly built Centre “Shiva Shakti Bhawan” in Bechraji in Mehsana, by Revered Rajyogini Dadi Ratan Mohini, Joint Chief of the Brahma Kumaris,  2) the Silver Jubilee of the Bechraji Centre and 3) a Lifetime Surrender Function by five virgin girls as Brahma Kumaris to serve God in His Divine Mission.

Bechraji, located 35 kilometers from Mehsana, is a famous pilgrimage, a Shakti Peeth [“seat of Shakti,” or a sacred place] of Bahuchar Mata.

BK Gita, Bechraji Centre in Charge, received Dadi Ratan Mohini from Madhuban Head Quarters, Mount Abu; BK Asha from Om shanti Retreat Center, Delhi; BK Godavari of Mulund, Mumbai; BK Sarla from Mehsana, BK Trupti of Bhavnagar, and other dignitaries with great pomp and pleasure.

Dadi Ratan Mohini inaugurated the new Center “Shiva Shakti Bhawan” by cutting the ribbon and lighting the lamps. She was taken around the whole building along with all the Guests. On the same day, five virgin Sisters in bridal make-up, who wanted to dedicate their lives to the Godly Mission, were taken around the city in a great procession with a band and music, followed by an enthusiastic crowd, who reached the venue of the ceremony.

The function commenced with a Welcome Dance by young girls. BK Satish and BK Nitin from Mount Abu rendered melodious songs and entertained the audience.

BK Trupti shared the Spiritual Message of God. BK Sarla welcomed Dadi Ratan Mohini, elite Guests, and the entire audience with great fervor. BK Asha enlightened people with the importance of Spirituality as per the occasion.

Mr. Bharat Thakur, MLA, Bechraji; Mr. Rajani Patel, former Home Minister of Gujarat; Mr. Devang Pandya, Sarpanch of Bechraji; Mr. Keerti Patel, head of the Patel community, and BK Bhopal from Shantivan, Mount Abu, were present as Honourable Guests and extended their Best Wishes.

Dadi Ratan Mohini greeted those five Sisters for their Dedication with her hearty love and affection, and blessed everyone present on the occasion.

Guests on the dais were honoured with a tilak, a crown, and garlands, followed by a cake cutting with Dadi Ratan Mohini. BK Godavari presided over the entire function.


News in Hindi
:
मेहसाणा से 35 किलोमीटर की दूरी पर स्थित, बहुचर माता जी के शक्ति पीठ से प्रख्यात यात्रा धाम, बेचराजी सेवाकेन्द्र द्वारा आदरणीय दादी रतन मोहिनी जी की पावन उपस्थिति में भव्य त्रिवेणी संगम 1. बेचराजी सेवाकेंद्र का रजत जयंती महोत्सव, 2. शिवशक्ति भवन का उद्घाटन एवं  3. कुमारीयों के प्रभु समर्पण समारोह का आयोजन किया गया।

आदरणीय दादी जी, दिल्ली से पधारे ब्रह्माकुमारी आशा दीदी, मुंबई से पधारी ब्रह्माकुमारी गोदावरी दीदी, मेहसाणा के ब्रह्माकुमारी सरला बहन, भावनगर के ब्रह्माकुमारी तृप्ति बहन, एवं अन्य मेहमानों का बेचराजी सेवा केंद्र की प्रभारी ब्रह्माकुमारी गीता बहन ने  सेवाकेंद्र पर भव्य स्वागत किया। दादी जी के वरद हस्तों से तख्ती अनावरण कर, फिता काटकर एवं दीप जलाकर भवन का उद्घाटन किया गया। आदरणीय दादी जी एवं अन्य बहनों ने पूरे भवन का अवलोकन किया। तत्पश्चात समर्पण होने जा रही पांच-पांच कुमारियों की शोभायात्रा बैण्ड बाजे के साथ शहर के मुख्य मार्गो से निकलती हुई भव्य सभामंडप पर पहुंची।

रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ मधुबन से आए हुए ब्रह्माकुमार सतीश भाई एवं नितिन भाई ने अपने मधुर गीतों से सबको आनंदित कर दिया। कार्यक्रम से पूर्व भावनगर से पधारी ब्रह्माकुमारी तृप्ति बहन ने अपने आध्यात्मिक प्रवचन से सब को लाभान्वित किया। मेहसाणा की ब्रह्माकुमारी सरला बहन ने शब्दों से सभी का स्वागत किया। दिल्ली से पधारी ब्रह्माकुमारी आशा दीदी ने अपना मुख्य वक्तव्य दिया।

इस कार्यक्रम में मुख्य मेहमान के रूप में पधारे थे माननीय  भ्राता भरत भाई ठाकोर, विधायक बेचराजी, माननीय भ्राता रजनी भाई पटेल, पूर्व ग्रुह मंत्री, गुजरात राज्य, बेचराजी गांव के सरपंच, माननीय भ्राता देवांग भाई पंड्या। पटेल समाज के अग्रणी, भ्राता किरीट भाई पटेल तथा शांतिवन से पधारे ब्रह्माकुमार भुपाल भाई ने अपनी शुभकामनाएं व्यक्त की। आदरणीय दादी रतन मोहिनी जी ने अपने पावन वचनों से सभी को आशीर्वाद दिया। पुरे कार्यक्रम का अध्यक्षीय स्थान संभाला था मुलुन्द, मुंबई से पधारी आदरणीय राजयोगिनी ब्रह्माकुमारी गोदावरी बहन ने। अंत में मंचासीन सभी मेहमानों को ताज, तिलक, चुन्नी, हार से सजाकर दीप प्रागट्य किया गया एवं केक भी काटी गई। दादि जी के पावन एवम वरदानी हस्तों से पांचो कुमरियों को प्रभु अर्पित किया गया।