Brahma Kumaris Offer Isolation and Quarantine Units with 1,000 beds

Mount Abu ( Rajasthan ): Brahma Kumaris Offer Voluntary Assistance to State Administration During Corona Epidemic

Brahma Kumaris  at its International Headquarters in Mount Abu prepared  1,000 beds to serve as isolation and quarantine units to help the state government in dealing with the epidemic of Corona Virus.

Dr. Ravindra Kumar Goswami, SDM, gave this information to the media people. He apprised the people about the voluntary assistance being offered by the Brahma Kumaris to the State government for relief to the patients of this epidemic.  This fully equipped isolation ward with beds has been set up at Brahma Kumaris Mansarovar complex situated on Sirohi Road, Kiwarli village.

Dr. Goswami further said that this voluntary assistance by Brahma Kumaris should not only be appreciated but also imitated by others.  It is a shining example of coming forward to share social responsibility in a time of crisis.

Various Allopathic, Ayurvedic and other physicians, health workers and nurses have been asked by the district administration to offer their services in these isolation units.

News in Hindi:

अन्तराष्ट्रीय आध्यात्मिक संस्था ब्रह्माकुमारी संगठन ने तैयार किया 1000 बैड का आईसोलेशन

माउंट आबू:  अन्तराष्ट्रीय संस्था प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की ओर से महामारी के रूप में विश्व भर में फैल रहे कोरोना वायरस से बचाव को लेकर प्रशासन की ओर से 1000 बैड का आईसोलेशन तैयार किया गया। यह बात उपखंड अधिकारी डॉ. रविंद्र कुमार गोस्वामी ने मीडियाकर्मियों से मुखातिब होते हुए कही।

उन्होंने कहा कि प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय ने कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम को आगे आकर प्रशासन को सहयोग दिया। जिसके तहत शान्तिवन तलहटी के पास सिरोही रोड पर किवरली गांव में मान सरोवर परिसर में अत्याधुनिक आईसोलेशन तैयार किया गया है। जो संभवत: राज्य में पहला उपखंड होगा जिसमें कोरोना वायरस से बचाव को लेकर अत्याधुनिक सुविधाओंयुक्त आईसोलेशन तैयार करने की पहल की गई है।

उन्होंने कहा कि ब्रह्माकुमारी संगठन द्वारा की गई यह पहल अपने आप में सराहनीय ही नहीं अनुकरणीय भी है। महामारी के प्रकोप से बचने के लिए ऐसी कठिन परिस्थितियों में आगे आकर सहयोग प्रदान करने का मानवीय पहलू का एक ज्वलंत उदाहरण है।

इस राष्ट्रीय आपदा के लिए आवश्यकता पडऩे पर प्रशासन हर तरह से तैयारियों में जुटा हुआ है। कोरोना वायरस से बचाव को लेकर आईसोलेशन में 1000 बैड तैयार किये जा चुके हैं। जिसके लिए उपखंड क्षेत्र में स्थित ऐलोपैथी, आयुर्वेदिक व अन्य पद्यतियों के चिकित्सकों, स्वास्थ्यकर्मियों, नर्सिंग कॉलेज, स्कूल के विद्यार्थियों को आवश्यकता पडऩे पर आइसोलेशन में सेवायें प्रस्तुत करने के लिए निर्देशित किया गया है।