5-Day Training Program for new Police Recruits

Hathras (Uttar Pradesh): The Brahma Kumaris of Anandpuri Colony conducted a training program for 5 days for the new Police recruits — for all policemen and the staff — on Self-Management and Self Realization.

At the insistence of Mr. O P Singh, Director General of Police, the Brahma Kumaris earlier imparted the divine knowledge with a 7-day course on Self Realization, God Realization, the Cycle of World Drama, Karma Philosophy, and Rajayog. Apart from that they held sessions on subjects like Positive Thinking and Addiction-Free life, etc., for the entire department.

BK Shanta, Centre in-Charge, on this occasion said, “One who is free from all tensions can only be an associate to create a tension-free Society”. She said, “In the present world. money has become most important. Of course, it is needed but money is not everything. If it is earned with tension, it will bring tensions in our life. Banks may get filled with deposits of money but that cannot give us peaceful sound sleep.” She advised them, “Soon after the training, when you start performing your duty, do it as a service to mankind and become as a Model of Faithfulness.” She spoke thus to the new recruits and the old policemen as well, at the end of the Self Realization training session.

BK Dinesh through video shows explained to the trainees and others on the topics, “Why don’t we keep God as our Companion”? and “Greed is very Bad.” He motivated and inspired all to serve the Society with Dedication.

BK Shanta then conducted Yoga with her sweet commentary and guided everyone in experiencing inner Peace.

RTC Kamlesh Kumar extended his gratitude and thanked all for making their training successful.

BK Lovely and BK Gajendra both fully co-operated with their lively presence.

In Hindi:

हाथरस (आनन्दपुरी कालोनी), उत्तर प्रदेश

• नव प्रशिक्षुओं पुलिसकर्मियों का 5 दिवसीय आत्मचिंतन प्रशिक्षण सम्पन्न • डी.जी.पी. के निर्देश पर ब्रह्माकुमारीज़ के आनन्दपुरी संगठन द्वारा
स्वप्रबन्धन, आत्मचिंतन पर दिया गया प्रशिक्षण
तनावमुक्त व्यक्ति ही तनावमुक्त समाज में सहयोगी बन सकता है …बी.के. शान्ता
धन का महत्व वर्तमान समय बहुत है लेकिन धन ही सर्वोपरि नहीं होता। चिन्ता से कमाया गया धन चिन्ता ही पैदा करेगा। इस धन से बैंक तो भर सकती हैं लेकिन सुख और चैन की नींद नहीं मिल सकती। इसलिए अपने जीवन में आगे पुलिस बल में सेवा की नई शुरूआत करने के बाद ईमानदार जीवन का उदाहरण बनकर रहना। यह उद्गार नव प्रशिक्षुओं पुलिसकर्मियों के लिए प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय, के आनन्दपुरी कालोनी केन्द्र द्वारा आत्मचिंतन प्रशिक्षण की सम्पन्नता के अवसर पर केन्द्र प्रभारी बीके शान्ता बहिन ने व्यक्त किये।
इस अवसर पर उन्हें लालच बुरी बला है तथा भगवान को साथ क्यों नहीं रखते विषयों पर वीडियो फिल्मों के माध्यम से जीवन परिवर्तन की प्रेरणा प्रदान करते हुए बीके दिनेश भाई ने सेवाभाव धारण करने की प्रेरणा प्रदान की।
ज्ञात हो कि पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह के निर्देशों द्वारा प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के आधार पाठ्यक्रम आत्म दर्शन, परमात्म परमात्मदर्शन, कर्मदर्शन, सृष्टि चक्र दर्शन, राजयोग दर्शन के अलावा सकारात्मक चिंतन, व्यसन मुक्ति विषयों पर ब्रह्माकुमारी बहिनों द्वारा मार्गदर्शन दिया गया।
राजयोग शिक्षिका बीके शान्ता बहिन ने अन्त में राजयोग को गाइडैड कॉमेन्ट्री के द्वारा नव प्रशिक्षुओं को अभ्यास कराया। आर.टी.सी. कमलेश कुमार ने ब्रह्माकुमारीज संगठन का आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर बीके लवली बहिन, बीके गजेन्द्र भाई उपस्थित थे।