‘Reconnect, Recharge and Rejuvenate’ Program for Finance Professionals

Gurgaon (Haryana): The Brahma Kumaris of Om shanti Retreat Center (ORC) in Gurugram launched a program for finance professionals at the national level called ‘Reconnect, Recharge and Rejuvenate’. Launched under the ‘Azadi ka Amrit Mahotsav Se Swarnim Bharat ki Ore’ Project, this program is meant for CA, CS and CMA professionals (chartered accountants, secretaries of companies, and management accountants).

BK Asha, Director of ORC Gurugram, in her inaugural address said that it is our good fortune to celebrate Azadi ka Amrit Mahotsav.  The Brahma Kumaris are serving for the past 85 years to create a Golden Bharat based on spiritual principles.

Dr. Mukulita Vijaywargiya, Director of the Insolvency and Bankruptcy Board of India, said that it is a good initiative by the Brahma Kumaris.  We all members of the CA community will extend full cooperation to make a Golden Bharat.

P. Raju Aiyyar, Head of Institute of Cost Accountants of India, said that the stress management programs of Brahma Kumaris are very effective.  They give positive energy to professionals.  It is our responsibility to support the ‘Azadi ka Amrit Mahotsav’ Project.

Vijendra Sharma, Vice President of CMA, said that if such programs are held regularly, surely a Golden Bharat can be made soon.

Shailendra Paliwal, CMA, said that he has experienced deep peace here at the ORC. He will inspire others to connect with this spiritual atmosphere as well.

Prof. Rajan Saxena, Indian management expert,  said that the Brahma Kumaris sisters are giving the message of peace and purity by their practical lives.

Raj Chawla, CA, shared his long journey with Brahma Kumaris and said meditation is needed to cultivate patience.

BK Brij Mohan, Additional Secretary General of Brahma Kumaris, and a chartered accountant by training, said that the work of finance professionals is very challenging, but if we connect with the Supreme Soul, it becomes easy. Only self transformation can lead to world transformation.

BK Phalguni held a Rajyoga session for the participants.  BK Ishu coordinated this program.  Finance professionals in large numbers participated in this initiative.

News in Hindi:

आजादी के अमृत महोत्सव से स्वर्णिम भारत की ओर अभियान के अंतर्गत फाइनेंस प्रोफेशनल्स के लिये आयोजित कार्यक्रम की राष्ट्रीय लॉन्चिंग

ब्रह्माकुमारीज़ द्वारा आज़ादी के अमृत महोत्सव से स्वर्णिम भारत की ओर अभियान के तहत आयोजित देशव्यापी कार्यक्रमों के अंतर्गत, गुरुग्राम स्थित ओम शांति रिट्रीट सेन्टर (ओ.आर.सी) में वित्तीय मामलों से जुड़े सी.ए, सी.एस एवं सी.एम.ए प्रोफेशनल्स के लिए ‘रिकनेक्ट, रिचार्ज एण्ड रिजूवनेटिंग’ कार्यक्रम की राष्ट्रीय लॉन्चिंग हुई।

अपने स्वागत वक्तव्य में बोलते हुए ओ.आर.सी की निदेशिका आशा दीदी ने कहा कि ये हम सभी का सौभाग्य है जो इस वर्ष आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं। उन्होंने कहा कि ब्रह्माकुमारी संस्था भी आध्यात्मिक मूल्यों के आधार पर पिछले 85 वर्षों से स्वर्णिम भारत बनाने की सेवा कर रही है। उन्होंने कहा कि इस अवसर पर हम सभी ये दृढ़ संकल्प करें कि अपने श्रेष्ठ आचरण और निष्ठा के बल पर स्वर्णिम भारत का निर्माण करेंगे।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भारतीय दिवाला और शोधन अक्षमता बोर्ड की सदस्या डॉ. मुकुलिता विजयवर्गीय ने कहा कि देश में दिवालिया संबंधित मामले लगातार बढ़ रहे हैं और इससे जहां व्यक्ति मानसिक रूप से कमजोर होता है वही बिजनेस भी अस्त-व्यस्त हो जाता है। इसलिए हमें मेडिटेशन से मन को मजबूत बनाना जरूरी है साथ ही नियमों का पालन भी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि हमें  3 सी अर्थात कोऑपरेशन, कंट्रीब्यूशन और कोलाब्रेशन की आवश्यकता है।

कार्यक्रम को जूम मीटिंग के माध्यम से संबोधित करते हुए भारतीय चार्टर्ड अकाउंटेंट संस्थान के अध्यक्ष सी.ए. डॉ. देवाशीष मित्रा ने कहा कि सी.ए संस्थान का मोटो है या एष सुप्तेषु जागर्ति अर्थात कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती। जो व्यक्ति सोते हुए भी जागता रहता है, वह एक सी.ए होता है। उन्होंने कहा कि ब्रह्माकुमारी संस्था का ये बहुत अच्छा इनीशिएटिव है। हम सब सी.ए. मिलकर स्वर्णिम भारत के निर्माण में भरपूर सहयोग देंगे।

भारतीय लागत लेखाकार संस्थान के अध्यक्ष पी. राजू अय्यर ने कहा की ब्रह्माकुमारी संस्था के स्ट्रेस फ्री मैनेजमेंट कार्यक्रम बहुत ही प्रभावी होते हैं। हम प्रोफेसनल्स में सकारात्मक ऊर्जा का संचार कर देते हैं। उन्होंने आगे कहा कि ये हम सबका कर्तव्य कि आजादी के अमृत महोत्सव पर अपना कुछ न कुछ सहयोग अवश्य दें।

सी.एम.ए उपाध्यक्ष विजेंद्र शर्मा ने अपने उद्बोधन में कहा कि ऐसे कार्यक्रम अगर लगातार होते रहें, तो भारत एक न एक दिन स्वर्णिम बन ही जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि ब्रह्माकुमारी संस्थान में आकर उन्हें एक सुखद अनुभूति हो रही है। उन्होंने कहा कि संस्था द्वारा आयोजित इस प्रकार के कार्यक्रम बहुत ही सराहनीय हैं।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सी.एम.ए शैलेन्द्र पालीवाल ने कहा की ओम शांति रिट्रीट सेंटर में आकर मुझे सहज ही शांति और आनंद की अनुभूति हुई। मैं अन्य लोगों को भी इस प्रकार के आध्यात्मिक वातावरण से जुड़ने की प्रेरणा देने का प्रयास करूँगा।

भारतीय प्रबन्धन विशेषज्ञ प्रोफेसर राजन सक्सेना ने अपना अनुभव साझा करते हुए कहा कि ब्रह्माकुमारीज़ बहनें अपनी प्रैक्टिकल जीवन के द्वारा विश्व को शांति और पवित्रता का संदेश दे रही हैं। उन्होंने कहा कि दुनिया में टकराव की सबसे बड़ी समस्या अहंकार है। अहम को समाप्त करने के लिए स्वयं को जानना जरूरी है। उन्होंने कहा कि वैश्विक स्तर पर सभी को आध्यात्मिक मूल्यों से अवगत कराना आवश्यक है।

सी.ए राज चावला ने अपना अनुभव साझा करते हुए कहा कि ब्रह्माकुमारीज़ के साथ वो काफी लंबे समय से जुड़े हैं। उन्होंने कहा कि अगर जीवन में धैर्यता चाहिये तो मेडिटेशन बहुत जरूरी है। जैसे उबलते हुए पानी में आप अपना प्रतिबिंब नहीं देख सकते लेकिन ठहरे हुए पानी में आपको स्पष्ट दिखाई देता है।

इस अवसर पर विशेष रूप से ब्रह्माकुमारी संस्था के अतिरिक्त महासचिव बी.के.बृजमोहन भाई साहब ने अपने अध्यक्षीय सम्बोधन में कहा कि वित्त मामलों से जुड़े प्रोफेशनल्स का काम बहुत ही चुनौतीपूर्ण होता है लेकिन यदि हम ईश्वरीय याद को अपने कार्य में शामिल कर लेते हैं तो बहुत कुछ आसान हो जाता है। उन्होंने कहा कि स्व-परिवर्तन से ही विश्व-परिवर्तन सम्भव है। मन के पवित्र विचार जीवन बहुत सरल बना देते हैं। स्वर्णिम दुनिया बनाने में प्रोफेशनल्स का योगदान महत्वपूर्ण है।

बी.के.फाल्गुनी ने सभी को योग का गहन अनुभव कराया। कार्यक्रम का संचालन बी.के.ईशु ने किया। कार्यक्रम में काफी संख्या में फाइनेंस प्रोफेशनल्स ने शिरकत की।

This slideshow requires JavaScript.

Subscribe Newsletter