“Mera Bharat Meri Shaan” Campaign in Bharatpur

Bharatpur (Rajasthan) : The Shipping, Aviation and Tourism Wing of the Rajayoga Education and Research Foundation launched a campaign aimed at promoting a value-based society through bringing awareness to the tourism industry and the richness of the Indian culture.  The campaign “Mera Bharat Meri Shaan” (“My Country, My Pride”) from Mysore to Mathura, arrived in Bharatpur. On this occasion a grand welcome ceremony was organised at the Brahma Kumaris center Vishwa Shanti Bhawan.

Expressing good wishes, the Chief Guest Abhijit Kumar, Mayor of the Municipal Corporation, mentioned that with the purpose of promoting tourism this campaign provides spiritual experience. Appreciating the initiative of the Brahma Kumaris to promote tourism, Additional Superintendent of Police Dr. Mul Singh Rana said that “Mera Bharat Meri Shaan” would promote tourism and it would glorify our rich culture.

Speaking on the objectives of the campaign, National Coordinator of the Shipping, Aviation and Tourism Wing of RERF Rajyogini BK Kamalesh from Mumbai said that the campaign aims to promote tourism by creating awareness about the rich cultural heritage of India and to take pride being an Indian. Speaking on the subject “Service with a smile” she also added that tourism is not a mere journey but an endeavor to gain knowledge.

Former Mayor of the Municipal Corporation Shiva Singh Bhatt lauded the tireless efforts of the Brahma Kumari sisters to promote and provide new directions to the society.

Presiding the program, Rajyogini BK Kavita greeted the members of the campaign. She said that spiritual thoughts and positive thinking brings transformation, and self-transformation leads to transformation of the country.

The Joint Director of Agriculture Desh Raj Singh; Ret’d Col. Ombir Singh; Divisional Chairperson of the Chamber of Commerce and Industries, Krusna Kumar Agarwal; Deputy Chairperson of the International Vaishya Foundation Anurag Garg; Senior Scientists of the Mustard Research Centre Dr. Ashok Kumar Sharma, Dr. Arun Kumar, and Dr. Prashant Yadav; Professors of Maharani Shree Jaya Maha Vidyalaya; prominent entrepreneur Puran Chand Garg and Jagan Garg; and BK Santosh, Coordinator of the Shipping Aviation and Tourism Wing, Mt. Abu, shared their experiences on this occasion.

News In Hindi:

शिपिंग, एवियेशन एवं टूरिज्म प्रभाग, राजयोग शिक्षा एवं शोध संस्था तथा प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय आबू पर्वत द्वारा भारत की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण स्थान रखने वाले ‘‘पर्यटन उद्योग‘‘, जिसे ‘अतिथि सत्कार उद्योग (Hospitality Industry) के रूप में भी जाना जाता है, को भारत की ‘अतिथि देवो भव‘ एवं राजस्थान की ‘पधारो म्हारे देश‘ की सांस्कृतिक गरिमा प्रदान करने के लिए 2 नवम्बर 2019 से 7 दिसम्बर 2019 तक ‘मेरा देश मेरी शान‘ पर्यटन अभियान (मैसूर से मथुरा) आयोजित किया गया। इस अभियान के निम्नलिखित उद्देश्य निर्धारित किए गएः-
1. स्वर्णित भारत के पुनर्निर्माण के लिए भारतीय मूल्यों को बढ़ावा देना,
2. बाहरी एवं स्वच्छता के प्रति जागरूकता लाते हुए भारत को स्वच्छ बनाना,
3. आंतरिक शांति और उत्थान के लिए पारस्परिक समझ का विकास एवं
4. संस्कृतियों का परस्पर समन्वय व सद्भावना का निर्माण एवं पर्यटन क्षेत्र से जुड़े व्यक्तियों का आध्यात्मिक सशक्तिकरण।
इस अभियान को भारत सरकार के भारतीय पर्यटन निदेशालय मुम्बई द्वारा भी उनके पत्र दिनांक 28.10.2019 द्वारा समर्थन प्राप्त हुआ।
भरतपुर आगमन से पूर्व तैयारियां

शिपिंग, एवियेशन एवं टूरिज्म की राष्ट्रीय संयोजिका राजयोगिनी कमलेश बहिन मुम्बई द्वारा दिनांक 30 अक्टूबर 2019 को ई-मेल से भेजी गई सूचना से ‘मेरा देश मेरी शान‘ पर्यटन अभियान के दिनांक 04.12.2019 को भरतपुर पहुँचने की सूचना प्राप्त होते ही भरतपुर सेवा केन्द्र द्वारा तत्काल निम्नलिखित कदम उठाए गएः-
1. मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथ्यिों का चुनाव एवं उनकी पूर्व सहमति प्राप्त करना,
2. कार्यक्रम स्थल का चुनाव एवं
3. पर्यटन व्यवसाय से जुड़े अधिकारियों, व्यक्तियों तथा शहर के अन्य गणमान्य नागरिकों से सम्पर्क।

भरतपुर सम्भागीय मुख्यालय है तथा राजस्थान राज्य का पूर्वी प्रवेश द्वार है। भरतपुर के घना ‘केवलादेव‘ (शिव परमात्मा के घने में स्थित मन्दिर का नाम) राष्ट्रीय पार्क में विश्वविख्यात पक्षी बिहार (Bird Sanctuary) स्थित है जो विश्व-सम्पदा (World Heritage) घोषित है। भरतपुर शहर में शानदार गंगा मंदिर, लक्ष्मण मंदिर, बिहारी जी का मंदिर तथा जामा मस्जिद स्थित है। भरतपुर जिले का कामां (भरतपुर से 55 किमी.) कस्बा भी अनेकों मंदिरों एवं पुरातत्व महत्व के ‘चैरासी खम्भा‘, ‘चरण पहाड़ी‘ आदि दर्शनीय स्थलों के लिए प्रसिद्ध है। साथ ही अन्य धार्मिक पीठ भी यहाँ स्थित हैं। भरतपुर अपने अजेय ‘लोहागढ़‘ नामक किले तथा युद्ध के समय प्रतिरक्षा के लिए बनाए गए बारह द्वारों वाले मिट्टी के परकोटे एवं डीग (राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी, भरतपुर से 35 किमी0 पश्चिम में) भी सुदृढ़ किले तथा ग्रीष्मकालीन उद्यानों, फव्वारों तथा जलमहलों के लिए प्रसिद्ध है।

पूर्व भरतपुर राज्य के आखिरी शासक महाराजा बृजेन्द्र सिंह जी के एक मात्र उत्तराधिकारी माननीय विश्वेन्द्र सिंह जी राजस्थान राज्य के केबीनेट मंत्री तथा पर्यटन एवं देवस्थान विभागों के प्रभारी हैं। साथ ही भरतपुर जिले से दो अन्य मंत्री भी हैं। इन तीनों को अभियान के विभिन्न कार्यक्रमों में माननीय अतिथियों के रूप में आमंत्रित किया गया। किन्तु 4 दिसम्बर 2019 को अभियान के भरतपुर के आगमन के दिन विधानसभा का सत्र चालू होने के कारण तथा अन्य पूर्व निर्धारित व्यस्तताओं के कारण इनमें से कोई भी उपलब्ध नहीं हो सका। अलबत्ता समय मिलते ही माननीय पर्यटन एवं देवस्थान मंत्री विश्वेन्द्र सिंह जी द्वारा हमें पत्र भेजकर आयोजन पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए आयोजन की सफलता की कामना की गई है। (प्रतिलिपि संलग्न है)

इसके पश्चात निम्नलिखित अधिकारियों एवं जन प्रतिनिधियों से सम्पर्क किया गयाः-
1. उपनिदेशक पर्यटन, पर्यटक स्वागत केन्द्र, भरतपुर
2. उप-मुख्य वन्य प्रतिपालक, घना केवलादेव राष्ट्रीय पार्क भरतपुर,
3. माननीय जिला कलक्टर भरतपुर एवं
4. मेयर नगर निगम भरतपुर

प्रथम दो अधिकारी अपनी पूर्व निर्धारित व्यस्तताओं के कारण अभियान के कार्यक्रमों में सहभागिता करने में असमर्थ रहे। किन्तु उन्होंने अपने अधीनस्थ अधिकारियों को अभियान के कार्यक्रमों में सहभागिता करने एवं साहित्य उपलब्ध कराने हेतु निर्देशित किया। माननीय जिला कलक्टर एवं मेयर द्वारा कार्यक्रम की मेजबानी करने की सहमति दी। किन्तु माननीय जिला कलक्टर का 03 एवं 04 दिसम्बर की मध्यरात्रि को जयपुर स्थानांतरण हो गया। शेष रहे मेयर नगर निगम भरतपुर मंचीय कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे।

पूर्व से ही संस्था के समीप संपर्क वाले तथा माउण्ट आबू में आयोजित पूर्व महाराजाओं के सम्मलेन में सपत्नीक भाग लेने वाले काका रघुराज सिंह, मैनेजिंग डायरेक्टर, लक्ष्मी विलास पैलेस हैरिटेज होटल, ने स्वतः ही अभियान के मंचीय कार्यक्रम के लिए अपने हैरिटेज होटल का एक हॉल निःशुल्क देना प्रस्तावित किया। दूसरे दिन इस हॉल का निरीक्षण करने के बाद पर्यटन अभियान के मंचीय कार्यक्रम के लिए उपयुक्त पाते हुए इसी हॉल में अभियान का मंचीय कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया गया। निर्णय होते ही काका रघुराज सिंह ने हैरिटेज होटल के मैनेजर को हमें सभी आवश्यक सहयोग देने का निर्देश दिया गया।

इसके पश्चात सहायक पर्यटन अधिकारी, पर्यटक स्वागत केन्द्र, भरतपुर से संपर्क कर तथा उन्हें पत्र देकर पर्यटन व्यवसाय से जुड़े हैरिटेज एवं अन्य होटल मालिकों/प्रबन्धकों के पते एवं फोन नम्बर्स हमें उपलब्ध कराने तथा पर्यटन विभाग की ओर से सभी को पत्र भेजकर मंचीय कार्यक्रम में सहभागी बनने का आह्वान करने का निवेदन किया गया। इनके द्वारा हमें सूची उपलब्ध कराई गई तथा अपने स्तर पर सभी को पत्र भेजकर कार्यक्रम में सहभागिता करने का आश्वासन भी दिया गया। पर्यटन विभाग से प्राप्त मोबाइल नम्बर्स के आधार पर एक व्हाट्स-अप ग्रुप तैयार किया जाकर हमारी ओर से भी पर्यटन व्यवसाय से जुड़े सभी होटल मालिकों/मैनेजर्स तथा अन्य संस्थानों के प्रमुखों एवं शहर के गणमान्य नागरिकों को कार्यक्रम के लिए आमंत्रित किया गया तथा उन्हें फोन करके भी व्यक्तिगत स्तर पर कार्यक्रम में अवश्य पधारने का अनुरोध किया गया।

अभियान का भरतपुर आगमन तथा हमारे द्वारा अगवानी एवं स्वागतः-
अभियान के भरतपुर आगमन पर उनके स्वागत हेतु राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-21 पर पड़ने वाले चौराहे पर राजयोगिनी ब्रह्माकुमारी कविता बहन, संयुक्त प्रभारी, आगरा उप जोन एवं निर्देशिका ब्रह्माकुमारीज जिला भरतपुर, भ्राता विश्वास माथुर, सहायक पर्यटन अधिकारी भरतपुर, भ्राता धारासिंह, यातायात पुलिस अधिकारी भरतपुर, भ्राता अनुराग गर्ग, उपाध्यक्ष अंतर्राष्ट्रीय वैश्य फैडरेशन एवं सभी ब्रह्मावत्स पहले से ही उपस्थित थे। सभी के द्वारा अभियान यात्रियों का भव्य स्वागत किया गया। स्वागत के पश्चात अभियान को सभी अतिथियों ने हरी झण्डी दिखाकर भरतपुर शहर के सिविल लाइन्स क्षेत्र से मोटरसाईकिल निकालते हुए सेवा केन्द्र

भवन पहुंचने को रवाना किया। निश्चित ही शोभायात्रा को लेकर चल रहे त्यागी, तपस्वी, जहान को रोशन करने वाले ब्रह्मावत्स इस भारतभूमि को देवभूमि बनाने के लिए निकले थे। वे ‘भारत देश हमारा है, हमें प्राणों से भी प्यारा है‘, ‘हम क्या लायेंगे, हम शांति एकता लायेंगे‘ आदि नारे लगाते हुए चल रहे थे। यह शोभायात्रा स्थानीय सेवा केन्द्र विश्व शांति भवन पर सम्पन्न हुई।

भरतपुर सेवा केन्द्र पर स्वागत एवं मंचीय कार्यक्रम:-

अभियान के भरतपुर सेवा केन्द्र भवन पहुंॅचने पर विश्व शांति भवन सभागार में स्वागत का एक मन्चीय कार्यक्रम रखा गया। कार्यक्रम में सभी अभियान यात्रियों एवं अतिथियों का तिलक, पुष्प मालाएंॅ एवं बैज प्रदान कर स्वागत किया गया।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि भ्राता डाॅ0 मूल सिंह राणा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भरतपुर ने अभियान यात्रियों को बधाई देते हुए कहा कि ‘मेरा देश मेरी शान‘ पर्यटन की अद्वितीय योजना को संस्था द्वारा साकार रूप देने का जो कार्य किया जा रहा है, वह एक अत्यन्त सराहनीय कार्य है। इससे हमारे देश भारत का गौरव और बढ़ जाएगा। ब्रह्माकुमारी संस्था पर्यटन को बढ़ावा देने के अलावा अनेकों सामाजिक एवं सकारात्मक कार्यक्रम समय≤ पर आयोजत करती रहती है। संस्था समाज को एक नई दिशा देने का कार्य कर रही है।

राजयोगिनी ब्रह्मा कुमारी कमलेश बहिन, राष्ट्रीय संयोजिका शिपिंग एवियेशन एवं टूरिज्म प्रभाग, राजयोग शिक्षा एवं शोध संस्थान ने अभियान का उद्देश्य बताते हुए कहा कि इस अभियान का उद्देश्य भारत में टूरिज्म को बढ़ावा देना है। टूरिज्म भारत की शान है। भारत दुनिया का सबसे खूबसूरत देश है। प्रकृति ने भारत को जहां एक ओर भरपूर एवं अनुपम सुन्दरता से सजाया है वहीं दूसरी ओर अध्यात्म की गंगा भी बहाई है। यहां देखने लायक एक ओर बर्फ से ढका हिमालय है तो दूसरी ओर विशाल एवं गहरा सागर है। एक ओर अथाह रेगिस्तान है तो दूसरी ओर घने जंगल। एक ओर हरे-भरे मैदान है तो दूसरी ओर विशालकाय पठार (पथरीली जमीन)। चारों धामों की यात्रा में सभी तरह के नजारों के दर्शन हो जाते हैं। केवल इतना ही नहीं भारत देश विविधता में एकता का अद्वितीय उदाहरण है। विश्व यात्रा और पर्यटन परिषद के अनुसार भारत निकट भविष्य में पर्यटन का मुख्य आकर्षण केन्द्र बन जाएगा। इस उद्देश्य से इस वर्ष अनेकों कार्यक्रम पर्यटन सम्बन्धी हुए हैं और आज भरतपुर में पर्यटन का अभियान लेकर आए हैं, जिसका सायंकाल मुख्य कार्यक्रम होना है। पर्यटन को समृद्ध बनाने के लिए विभिन्न कार्यक्रम संस्था द्वारा किए जा रहे हैं जिससे भारतीय नागरिक अपनी अमूल्य धरोहर, मूल्यनिष्ठ संस्कृति को जाने-पहचानें तथा स्वयं के भारतीय होने पर गौरवान्वित अनुभव करें।

इस अवसर पर पूर्व मेयर शिवसिंह भोंट ने कहा कि ब्रह्माकुमारी बहनें समाज के उत्थान के लिए दिन रात एक करके कठिन परिश्रम करके समाज को नई दिशा देने का कार्य कर रही हैं। भारतीय संस्कृति की अमूल्य धरोहर आध्यात्मिकता को समाज में पुनस्र्थापित कर रही है जिससे निकट भविष्य में भारत देश स्वर्णिम विश्व बन जायेगा।
इस अवसर पर राजयोगिनी ब्रह्माकुमारी कविता बहन ने सभी अभियान यात्रियों एवं अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि अभियान का एक प्रमुख उद्देश्य अपनी बाह्य एवं आन्तरिक स्वच्छता को जागृत करते हुए भारत को पुनः स्वर्ग बनाना है। साथ ही सुख, शांति एवं समृद्धि के लिए भारत का आध्यात्मिक विकास करना है। तभी पर्यटन क्षेत्र से जुड़े सभी व्यक्तियों का भी सशक्तिकरण होगा।

‘मेरा देश मेरी शान‘ पर्यटन अभियान (मैसूर से मथुरा) के दिनांक 04 दिसम्बर 2019 को भरतपुर पहुँचने पर स्थानीय लक्ष्मी विलास पैलेस हैरिटेज होटल में सायंकाल भव्य मंचीय कार्यक्रम रखा गया। कार्यक्रम राजयोगिनी ब्र.कु. कविता बहिन, संयुक्त प्रभारी ब्रह्माकुमारीज आगरा उप जोन की अध्यक्षता तथा अभिजीत सिंह महापौर नगर निगम, आई.आर.एस., भरतपुर के मुख्य आतिथ्य में सम्पन्न हुआ। राजयोगिनी ब्र.कु. कमलेश बहिन, लीडर अभियान एवं मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित थीं।

राजयोगिनी ब्रह्मा कुमारी कमलेश बहिन, राष्ट्रीय संयोजिका शिपिंग एवियेशन एवं टूरिज्म प्रभाग, राजयोग शिक्षा एवं शोध संस्थान ने अभियान का उद्देश्य बताते हुए कहा कि इस अभियान का उद्देश्य भारत में टूरिज्म को बढ़ावा देना है। टूरिज्म भारत की शान है। भारत दुनिया का सबसे खूबसूरत देश है। प्रकृति ने भारत को जहां एक ओर भरपूर एवं अनुपम सुन्दरता से सजाया है वहीं दूसरी ओर अध्यात्म की गंगा भी बहाई है। यहां देखने लायक एक ओर बर्फ से ढका हिमालय है तो दूसरी ओर विशाल एवं गहरा सागर है। एक ओर अथाह रेगिस्तान है तो दूसरी ओर घने जंगल। एक ओर हरे-भरे मैदान है तो दूसरी ओर विशालकाय पठार (पथरीली जमीन)। चारों धामों की यात्रा में सभी तरह के नजारों के दर्शन हो जाते हैं। केवल इतना ही नहीं भारत देश विविधता में एकता का अद्वितीय उदाहरण है। विश्व यात्रा और पर्यटन परिषद के अनुसार भारत निकट भविष्य में पर्यटन का मुख्य आकर्षण केन्द्र बन जाएगा। इस उद्देश्य से इस वर्ष अनेकों कार्यक्रम पर्यटन सम्बन्धी हुए हैं और आज भरतपुर में पर्यटन का अभियान लेकर आए हैं, जिसका सायंकाल मुख्य कार्यक्रम होना है। पर्यटन को समृद्ध बनाने के लिए विभिन्न कार्यक्रम संस्था द्वारा किए जा रहे हैं जिससे भारतीय नागरिक अपनी अमूल्य धरोहर, मूल्यनिष्ठ संस्कृति को जाने-पहचानें तथा स्वयं के भारतीय होने पर गौरवान्वित अनुभव करें।

इस अवसर पर पूर्व मेयर शिवसिंह भोंट ने कहा कि ब्रह्माकुमारी बहनें समाज के उत्थान के लिए दिन रात एक करके कठिन परिश्रम करके समाज को नई दिशा देने का कार्य कर रही हैं। भारतीय संस्कृति की अमूल्य धरोहर आध्यात्मिकता को समाज में पुनस्र्थापित कर रही है जिससे निकट भविष्य में भारत देश स्वर्णिम विश्व बन जायेगा।
इस अवसर पर राजयोगिनी ब्रह्माकुमारी कविता बहन ने सभी अभियान यात्रियों एवं अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि अभियान का एक प्रमुख उद्देश्य अपनी बाह्य एवं आन्तरिक स्वच्छता को जागृत करते हुए भारत को पुनः स्वर्ग बनाना है। साथ ही सुख, शांति एवं समृद्धि के लिए भारत का आध्यात्मिक विकास करना है। तभी पर्यटन क्षेत्र से जुड़े सभी व्यक्तियों का भी सशक्तिकरण होगा।

‘मेरा देश मेरी शान‘ पर्यटन अभियान (मैसूर से मथुरा) के दिनांक 04 दिसम्बर 2019 को भरतपुर पहुँचने पर स्थानीय लक्ष्मी विलास पैलेस हैरिटेज होटल में सायंकाल भव्य मंचीय कार्यक्रम रखा गया। कार्यक्रम राजयोगिनी ब्र.कु. कविता बहिन, संयुक्त प्रभारी ब्रह्माकुमारीज आगरा उप जोन की अध्यक्षता तथा अभिजीत सिंह महापौर नगर निगम, आई.आर.एस., भरतपुर के मुख्य आतिथ्य में सम्पन्न हुआ। राजयोगिनी ब्र.कु. कमलेश बहिन, लीडर अभियान एवं मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित थीं।

राजयोगिनी ब्र00कु0 कविता बहिन ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में कहा कि हम ‘‘मेरा देश मेरी शान‘‘ पर्यटन अभियान दल का इस कृष्ण की भूमि, वीरों की भूमि, त्याग और बलिदान की भूमि भरतपुर में हार्दिक स्वागत करते हैं, साथ ही आभार भी व्यक्त करते हैं। देवताओं के चेहरे सदैव मुस्कुराते हुए दिखाए जाते हैं। ये इस बात का प्रमाण है कि सतयुग एवं त्रेता युग में जब देवी-देवताओं की दुनिया थी तो सभी के जीवन में मुस्कुराहट थी और नेचुरल एवं स्थाई थी। पर्यटन हमें परिवर्तन करना सिखाता है। आध्यात्मिक चिन्तन एवं सकारात्मक सोच हमें परिवर्तित करते हैं। हम प्रकाशवान हों तो देश भी प्रकाशवान बनेगा।

विशिष्ट अतिथि के रूप में अपने विचार व्यक्त करते हुए डॉ मूल सिंह राणा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भरतपुर ने कहा कि ‘मेरा देश मेरी शान‘ पर्यटन अभियान का कार्यक्रम भी बहुत शानदार है। अभियान दल के सभी सदस्य इस वीर भूमि में बधाई के पात्र हैं। ब्रह्माकुमारीज विश्व में महिला सशक्तिकरण का अद्वितीय उदाहरण हैं। विश्व का कोई अन्य देश आज तक ऐसी मिशाल पेश नहीं कर सका है। ब्रह्माकुमारीज का सिद्धान्त है सुख-शांति एवं समृद्धि। मैं चाहता हूँ कि अधिक से अधिक जन इस संस्था के सानिध्य में आएं ।

विशिष्ट अतिथि के रूप में बोलते हुए संयुक्त निदेशक कृषि देशराज सिंह ने कहा कि अभियान लीडर कमलेश बहिन ने विभिन्न गुणों का संदेश दिया है। यह संदेश यदि हम अपने जीवन में धारण कर लें तो हमारा जीवन खुशहाल बन जाएगा। ये यात्रा हमें ये संदेश देती है कि हमें अपने जीवन में गतिमान होना चाहिए।

विशिष्ट अतिथि के रूप में बोलते हुए कर्नल (रिटार्यड) ओमवीर सिंह ने कहा कि मैंने सभी धर्मों तथा सम्प्रदायों के बारे में अध्ययन किया है किन्तु ब्रह्माकुमारीज सबसे अलग है। इनका सिद्धान्त है कि अपने को आत्मा समझ, परमात्मा शिव को परमधाम में मन, बुद्धि के द्वारा याद करो तो हमारा जीवन दिव्य बन जाएगा।

चैम्बर आफ कॉमर्स एण्ड इण्डस्ट्रीज के संभागीय अध्यक्ष कृष्ण कुमार अग्रवाल ने कहा कि चेहरे पर मुस्कुराहट जीवन जीने की कला है। आपने अभियान दल को अपनी ओर से शुभकामनाएं प्रेषित कीं।
अन्तर्राष्ट्रीय वैश्य फैडरेशन के उपाध्यक्ष अनुराग गर्ग ने कहा कि ‘‘मेरा देश मेरी शान‘‘ पर्यटन अभियान देश की अर्थव्यवस्था को सुधारने में भी मदद करेगा।
अभियान दल के सदस्य ब्रह्माकुमार संतोष, मुख्यालय संयोजक, शिपिंग एवियेशन एवं पर्यटन विंग, आबू पर्वत ने संस्था के परिचय के साथ-साथ अभियान के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए अभियान यात्रा के अनुभव साझा किए। हर देश भारत की सभ्यता और संस्कृति को अपनाना चाहता है। किन्तु ये बड़ी विडम्बना है कि भारत का युवा अपने देश के बारे में पूरी तरह जानना नहीं चाहता तथा विदेश जाना चाहता है। हमें इस प्रवृत्ति को बदलना होगा।

कार्यक्रम में सरसों अनुसंधान केन्द्र के वैज्ञानिकों सर्व श्री डॉ अशोक कुमार शर्मा, डॉ अरूण कुमार, डॉ प्रशान्त यादव तथा महारानी श्री जया महाविद्यालय के प्रोफेसर्स, व्यापार एवं उद्योग जगत के पदाधिकारियों सहित शहर के सभी वर्ग एवं पेशों के संभ्रांतजन उपस्थित थे। कार्यक्रम के अन्त में भरतपुर के प्रतिष्ठित उद्योगपति एवं व्यवसायी भ्राता पूरन चंद गर्ग तथा भ्राता जगन गर्ग, प्राचार्य, श्री अग्रसेन सीनियर सैकण्डरी स्कूल भरतपुर द्वारा शाॅल ओढ़ाकर सम्मान किया गया। अगले दिन 5 दिसम्बर 2019 को पक्षी बिहार का अवलोकन करने के पश्चात अभियान आगरा के लिए प्रस्थान कर गया।