“Empowerment of Farmers” and “Consistent Yogic Farming”

Charkhi Dadri (Haryana): The Brahma Kumaris of Charkhi Dadri organised a program as a Service by the Rural Development Wing of their Rajayoga Education and Research Foundation, in Mount Abu, Rajasthan, to enlighten Farmers and Villagers about “Empowerment of Farmers” and “Consistent Yogic Farming with Organic Manures“.

“Newton’s 3rd Law says, every Action has an equal and opposite Reaction. Accordingly, respect also given means respect is received. So if we abuse others, in return with all probabilities we will get abused. Similarly, if we feed Mother Earth with poisonous chemical fertilizers and chemical pesticides, we are sure to get back poisoned farm products and crops which instead of giving us health will render the human body as a home of diseases.” These were the expressions of Dr. Pratap Singh Samarwal, Deputy Director of Agriculture. He asked all the Cultivators to readopt ancient way of traditional farming for a healthy society.

The program was launched with customary candle lighting in the memory of God by Honourable Guests who were welcomed by decorating them with turbans and badges by the Sisters.

Then BK Anil, Singer Artist of Peace of Mind TV channel, sang a song after which lovely children from the Sharade Public School performed a beautiful dance.

BK Vijay gave the vast history of the Brahma Kumaris — in brief — to the peasants, farmers and others who were present. BK Anil, TV singer, once again left the full atmosphere spellbound by his spirited rendering of songs.

BK Raju, Vice Chairperson of the Rural Development Wing from Mount Abu, disclosed the beneficial returns to the farmers using natural manures — made out of cow dung, urine, organic compost, and other natural materials — and sending powerful vibrations of Rajayoga to the crops.

BK Rajendra from Palwal politely demanded all the farmers not to waste and misuse their hard toil, for the sake of their harmful bad habits of intoxication, smoking, drinking alcohol, chewing tobacco, etc. He said that even donkeys never eat tobacco nor the snakes full of venom ever enter in that field of tobacco.

To enlighten the peasants through entertainment, a small playlet was enacted by BK Manoj, BK Jitendra and BK Satyapal, on “Consistent Yogic Farming by Organic Manure and Yogic Power”, to explain to them the benefits they can earn and be healthy and happy in life.

Local Block Development Officer, Dr. Ishwar Singh, gave important information, useful for all.

Dr. Rajendra Prasad, Specialist in Agriculture, encouraged people to adopt Organic methods of farming. He said that burning Parali (leftovers of crops after harvest), is very harmful for the field and the environment.

In the program Mr. Kashmir Singh Jakhad, Chief of 36 communities of Jakhad, Mr. Kapoor Singh, the Chief of 12 villages, addressed the audience.

Mr. Dilip Singh Sangvan, Earlier Deputy Director of Agriculture, spoke about Organic Milk and its benefits.

Mr. Bhimsingh Dagar, Co-ordinator of the Farmers’ Association, let others know that the Natural way of Cultivation was found to be very beneficial by them.

On this occasion Mr. Bhimsingh Dagar, Mr. Diwansingh Atela, Mr. Ramhar Dhanaasri, Mr. Dharmvir and Mr. Balwir were felicitated by BK Raju and BK Prem, on behalf of the Brahma Kumaris and all the Guests, for successfully practicing Organic Farming.

Municipal Chairman Mr. Sanjay Chhaparia and many respectful persons along with hundreds of farmers attended the Convention. It was organized by BK Shanta, Member of the Rural Service Wing, from Hathras Centre.

The program was presided over by BK Prem, Shanti Kunj Centre in Charge, Rohtak Road, Hathras. She conducted a guided Rajayog Meditation in which everyone took part to experience inner peace.

In Hindi:

न्यूटन का तीसरा नियम है क्रिया के विपरीत प्रतिक्रिया होती है। किसी को आदर देंगे तो आदर मिलेगा। अपशब्द देंगे तो अपशब्दों के मिलने की संभावना बढेगी। इसी प्रकार यदि धरती माँ को रासायनिक खाद और कीटनाशकों का जहर देंगे तो फसलें भी जहरीलें ही मिलेंगी जिससे मनुष्य का शरीर रोगों का घर ही बन जायेगा। कुछ इस प्रकार की भावनात्मक अभिव्यक्ति उपकृषि निदेशक डॉ0 प्रताप सिंह सभरवाल ने अपने शुभकामना संदेश में किसानों को परम्परागत खेती की ओर आगे आने का आव्हान करते हुए प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के राजयोगा एजूकेशन एण्ड रिसर्च फाउण्डेशन के ग्राम्य विकास प्रभाग किसान सशक्तिकरण सम्मेलन में की।

जिले सिंह अकेदमी ग्राउण्ड घिकाड़ा रोड, चरखी दादरी में आयोजित सम्मेलन का शुभारम पीस ऑफ माइण्ड टेलीविजन के गीतकार बीके अनिल भाई की शिव आरती “शिव आन मिलो” से हुआ। मंचासीन अतिथियों का बैज लगाकर एवं पगड़ी तथा पुष्पों से स्वागत ब्रह्मावत्सों द्वारा किया गया। “आज तो अपने हर्ष का मिलता कहीं न अन्त है” गीत पर स्वागत भावनृत्य शारदे पब्लिक स्कूल के नन्हें मुन्नों द्वारा किया गया। ब्रह्माकुमारीज़ के विशाल परिचय को सूक्ष्मता में बीके विजय भाई ने संजोया। कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथियों द्वारा दीप प्रज्जवलन कर किया।

टेलीविजन सिंगर बीके अनिल भाई ने “पहचान लो शिव एक को”, “स्वर्णिम भारत आ रहा, मेरा बाबा ला रहा” आदि गीतों की स्वरलहरियों द्वारा श्रोताओं का भरपूर मनोरंजन किया।

राजयोगा एजूकेशन एण्ड रिसर्च फाउण्डेशन के ग्राम्य विकास प्रभाग के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष माउण्ट आबू से पधारे बीके राजू भाई ने खेती में जैविक, गोबर की परम्परागत खाद एवं गाय मूत्र और अनेक प्राकृतिक उपायों से भारत के अनेक प्रांतों में ब्रह्मावत्सों द्वारा की जा रही शाश्वत यौगिक खेती की जानकारी तथा उससे होने वाले लाभों की जानकारी से अवगत कराया।

इस अवसर पर पलवल से पधारे बीके राजेन्द्र भाई ने किसानों को अपनी खून पसीने की मेहनत को तम्बाकू, बीड़ी, शराब आदि व्यसनों में न बर्बाद करने का आव्हान करते हुए सुनाया कि गधा भी तम्बाकू नहीं खाता, विषधर भी इसके खेत में नहीं जाता।

“शाश्वत यौगिक खेती की ओर” नाटिका बीके मनोज भाई, बीके जितेन्द्र भाई, सत्यपाल भाई ने प्रस्तुत की। इसके बाद एपीएस के नन्हें मुन्नों ने “मेरे देश की धरती सोना उगले” पर सुन्दर मनभावन प्रस्तुति दी।

खण्ड विकास अधिकारी डॉ ईश्वर सिंह ने महत्वपूर्ण जानकारियों से अवगत कराया। जैविक खेती की जानकारी से किसानों को कृषि विशेषज्ञ डॉ राजेन्द्र प्रसाद ने अवगत कराया। साथ ही उन्होंने फसल काटने के बाद पराली के जलाने को बहुत हानिकारक बताया।

आयोजन में जाखड 36 खाप प्रधान कश्मीर सिंह जाखड़ तथा बिरोहड़ 12 गाँव प्रधान कपूर सिंह आदि ने भी सम्बोधित किया।

पूर्व उपकृषि निदेशक दिलीप सिंह सांगवान ने जैविक दूध की भी जानकारी से अवगत कराया। कुदरती खेती किसान समूह के संयोजक भीम सिंह डागर ने कुदरती खेती करने के लाभों से अवगत कराया।

इस अवसर पर भीम सिंह डागर, दीवान सिंह अटेला, रामहर धनाश्री, धर्मवीर, बलवीर किसानों का जैविक खेती करने के लिए ब्रह्माकुमारीज़ संगठन की ओर से बीके राजू भाई, बीके प्रेम बहिन सहित अतिथियों ने सम्मानित किया। नगरपालिका चेयमैन संजय छपारिया सहित अनेक वरिष्ठ नागरिक, सम्मानित किसानों सहित सैकड़ों खेती करने वाले ऋषि उपस्थित थे।

रोहतक रोड स्थित ब्रह्माकुमारीज़ के शान्तिकुंज, सेवाकेन्द्र की राजयोग शिक्षिका ब्रह्माकुमारी प्रेम बहिन ने कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए उपस्थित जनों को राजयोग का अभ्यास कराया।

उत्तर प्रदेश के हाथरस से पधारीं ग्राम सेवा प्रभाग की सदस्या बीके शान्ता बहिन ने कार्यक्रम का संचालन किया।