Brahma Kumaris Rajim Felicitate Chief Minister of Chhattisgarh

Nawapara Rajim ( Chhattisgarh ) : On the banks of the Mahanandi River in Chhattisgarh each year a huge fair called “Rajim Maghi Punni Mela” is held. It is a kind of Triveni Sangam, a confluence of “Faith, Spirituality and Culture.”

On the inaugural day, Honourable Chief Minister of Chhattisgarh Mr. Bhupesh Baghel attended as the Chief Guest along with the Home and Endowment Minister Mr. Tamradhwaj Sahu. The Acharya Mahamandaleshwar Brahmasri Sriram Krishnananda Maharaj, Agni Peethhadhipati, Amarkantak; Sadhwi Pragnya Bharati, Vedratan Seva Prakalp Samrakshak from Jabalpur; BK Pushpa, Navapara Centre in Charge; BK Narayan from Indore, Zonal Coordinator of Religious Wing for Chhattisgarh and Madhya Pradesh; and several MPs, MLAs and other Ministers were also present.

BK Narayan said, “In this great fair, Brahma Kumaris are specially given a large pendal [stall] every year to put up their Pictorial Exhibition, a live display of young girls in the attire of various forms of deities blessing visitors, to install the Dwadash (twelve) Jyotirlings, Models depicting Rajayoga, and the Establishment of the New World, etc.” He said that the message of God’s Descension on Earth to transform this vicious world into the viceless deity World and restore peace, prosperity and happiness is given to the crowd of pilgrims.

Welcoming the people and all the guests on the opening day, Home Minister Mr. Tamradhwaj Sahu said that all efforts are made by State Government to promote the cultural traditions of Chhattisgarh in this fair.

Mr. Bhupesh Baghel, Honourable Chief Minister said, “Rajim Maghi Punni Mela is held every year on the banks of such a big Mahanadi River in which we are facing so many difficulties while making the arrangements. Keeping that in view, 25 acres of land has been earmarked to develop not only for this Mela but to hold large Social Fairs also.”

On this occasion, BK Pushpa of Navapara and BK Narayan from Indore felicitated Mr Bhupesh Baghel with a Godly Memento. At the end of the function, the District Collector of Gariyaband honoured BK Pushpa, BK Narayan, and all the saints and sages with garlands and shields.

News in Hindi:

राजिम नवापारा : राजीम मांगी पुन्नी मेला आस्था आध्यात्मिक एवं संस्कृति का त्रिवेणी संगम मेले के शुभारंभ पर धर्मस्व, ग्रह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने अपने स्वागत भाषण में कहा कि 9 से 21 फरवरी तक राजिम मांगी पुन्नी मेला चलेगा। जिसमें 9, 15, 16 एवं 21 फरवरी महत्वपूर्ण तिथि है। 15 फरवरी को संत समागम 16 फरवरी को जानकी जयंती 21 फरवरी को महाशिवरात्रि एवं समापन का कार्यक्रम रहेगा। इसमें छत्तीसगढ़ की संस्कृति को आगे लाने का हर उपाय किया जा रहा है। इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि भ्राता भूपेश बघेल मुख्यमंत्री, छत्तीसगढ़ ने जनसभा को संबोधित करते हुए बताया कि राजिम मेला के लिए इतनी बड़ी महानदी में  मांगी पुन्नी मेला लगता है यहां पर नदी होने के कारण अक्सर कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इतने बड़े मेले के लिए कोई जगह नहीं इसीलिए राजिम मेले के लिए स्थाई रूप से 25 एकड़ जमीन का आवंटन किया गया है जो धार्मिक मेला ही नहीं जहां सामाजिक मेले के रूप में इस स्थान को विकास किया जाएगा। कार्यक्रम के उद्घाटन में अमरकंटक के आचार्य महामंडलेश्वर ब्रह्मर्षि श्री राम कृष्णानंद जी महाराज,अमरकंटक, ब्रह्मा कुमारी पुष्पा बहन, नवापारा, ब्रह्मा कुमार, नारायण भाई, इंदौर, साध्वी प्रज्ञा भारती संरक्षक वेदरतन सेवा प्रकल्प,जबलपुर, व अनेक मंत्री, विधायक सांसद उपस्थित थे। इस अवसर पर इंदौर से पधारे धार्मिक प्रभाग के मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ के जोनल कोऑर्डिनेटर ब्रह्माकुमार नारायण भाई ने बताया कि प्रतिवर्ष छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा ब्रम्हाकुमारी सेवा केंद्र को द्वादश ज्योतिर्लिंग एवं नौ देवियों की चेतन झांकी के आयोजन के लिए  विशाल पंडाल दिया जाता है। वहां पर चेतन  नौ देवियों की झांकी और 12 ज्योतिर्लिंग, विश्व नवनिर्माण आध्यात्मिक प्रदर्शनी तथा विभिन्न राजयोग के मॉडल के द्वारा परमात्मा शिव का संदेश आने वाले लाखों श्रद्धालुओं को इस मेले के माध्यम से दिया जा रहा है। इस मेले में संपूर्ण छत्तीसगढ़ राज्य के भक्त ,श्रद्धालु ,संत ,महात्मा स्नान करने के लिए आते हैं।

इस अवसर पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी को ईश्वरीय सौगात देकर उनको सम्मानित ब्रह्मा कुमार नारायण भाई और ब्रह्मा कुमारी पुष्पा बहन ने किया ।इस अवसर पर ताम्रध्वज साहू जी गृह ,जेल ,लोक निर्माण मंत्री व अनेक मंत्री भी उपस्थित थे।

कार्यक्रम की समाप्ति के बाद ब्रह्माकुमार नारायण भाई ,ब्रह्माकुमारी पुष्पा बहन व सभी संत महात्माओं का सम्मान गरियाबंद के जिला कलेक्टर ने शील्ड व माला पहनाकर किया। इस कार्यक्रम में। आचार्य महामंडलेश्वर अग्नि, पीठाधीश्वर ब्रह्म ऋषि श्रीराम कृष्णानंद जी महाराज अमरकंटक मुख्य रूप से उपस्थित थे।